रीवा

रीवा: राजघराना परिवार के पूजा घर से अष्टधातु की बेशकीमती मूर्तियां चोरी

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:23 AM GMT
रीवा: राजघराना परिवार के पूजा घर से अष्टधातु की बेशकीमती मूर्तियां चोरी
x
रीवा. गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के हरदीशंकर गांव मे राजघराना से जुड़े परिवार के पूजा घर से अष्टधातु की बेशकीमती मूर्तियां चोरी होने की खबर आग की

रीवा. गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के हरदीशंकर गांव मे राजघराना से जुड़े परिवार के पूजा घर से अष्टधातु की बेशकीमती मूर्तियां चोरी होने की खबर आग की तरह फैली तो लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। पुलिस को सूचना दी गई तो मौके पर थाना प्रभारी के साथ डॉग स्कॉट ,फॉरेंसिक एसपर्ट, साइबर सेल की टीम पहुंची और अहम साक्ष्य जुटाया।

रीवा में दुकानों के खुलने एवं बंद होने का समय बदला, कलेक्टर का आदेश जारी, पढ़ें…

बताया जाता है कि जो मूर्ति बदमाशों ने चुराया है वह 300 वर्ष पुरानी हैं, जिनकी कोई कीमत नहीं आंकी जा सकती। यह अष्टधातु की बनी मूर्तियां लगभग 15 किलो की थीं। साथ ही एक पीतल के लड्डू गोपाल की मूर्ति बदमाश चुरा ले गए है। पुलिस साक्ष्यों के आधार पर बदमाशों की तलाश कर रही है। गौरतलब है कि रीवा जिले का गोविंदगढ़ क्षेत्र बेशकीमती मूर्तियों के लिए जाना जाता है। यहां से मां उग्रतारा की मूर्ति चोरी हुई थी, जिसका आज तक पता नहीं चला। साथ ही गोविंदगढ़ किला से कई बेशकीमती मूर्तियां चोरी जा चुकी हैं। इसके बाद हरदीशंकर से चोरी हुई मूर्तियों के बाद क्षेत्र के लोगों में खासा आक्रोश है।

मिली जानकारी के अनुसार रीवा रियासत के तत्कालीन महाराजा रघुराज सिंह कि ससुराल गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के हरदीशंकर में थी। जिन के वंशज अशोक सिंह पिता हरिदास सिंह का परिवार हार्दिक शंकर में रह रहा है। रविवार की सुबह परिवार के लोग सो कर उठे और घर के पूजा घर में दर्शन करने पहुंचे तो राम लक्ष्मण सीता की अष्टधातु की मूर्ति नदारद मिली। साथ ही बगल में रखी एक पीतल के लड्डू गोपाल की मूर्ति भी चोरों ने पार कर दिया था।

रीवा में आज 9 लोग कोरोना से जंग जीतकर घर के लिए हुए रवाना, कलेक्टर-कमिश्नर ने किया स्वागत

घटना की जानकारी लगते ही घर के सभी सदस्य मौके पर पहुंचे और पूजा घर के अंदर जाकर देखा तो सोने के मुकुट, हार, कुंडल, कमरबंद, छात्र सोने चांदी के लगभग 50 लाख रुपए से अधिक की सामान चोरी हो चुका था। इसके बाद घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

पीछे के रास्ते से घुसे चोर

बताया जाता है कि अशोक सिंह की पुरानी गढ़ी के पीछे उनके चचेरी बहन का परिवार रहता था, जो इन दिनों रीवा में रह रहा है। उनका अधूरा भवन पड़ा हुआ था और उसी भवन में शौचालय बनाया गया था। बदमाश सड़क से दीवाल में चढ़े और शौचालय में चढ़कर पीछे के रास्ते से छत पर पहुंचे थे और छत की सीढ़ी से नीचे उतर कर आंगन में पहुंच गए। जिसके बाद अंदर से बंद सभी दरवाजों को खोलते हुए बाहर की ओर निकले और पूजा घर से तीनों बेशकीमती मूर्ति सोने चांदी के मुकुट जेवर पीतल की लड्डू गोपाल की मूर्ति चुरा कर फरार हो गए।

REWA की राजकुमारी मोहिना सिंह समेत 23 लोग CORONA पॉजिटिव

सुबह दर्शन करने पहुंचे पड़ोसी तो हुई जानकारी

अशोक सिंह की मानें तो उनके परिवार के ही लोग ट्रैटर लेकर खेती किसानी के लिए जा रहे थे। सुबह लगभग 4 बजे घर के सामने से गुजरे तो मुख्य दरवाजा खुला दिखा, जिसे देखकर वह ट्रैटर खड़ा कर दरवाजा देखने पहुंचे तो दरवाजा से मंदिर का गेट खुला दिखा। तो उन्होंने सोचा कि भगवान के दर्शन कर लें जैसे ही भगवान के दर्शन करने मंदिर के सामने पहुंचे तो अंदर रखी मूर्तियां नदारद दिखीं, जिसके बाद परिवार के सदस्यों को सूचना दी तो परिवार में सनाका खिंच गया।

1 से 4 बजे के बीच हुई चोरी

बताया जाता है कि शनिवार की रात लगभग एक बजे तक अशोक सिंह के पुत्र छत में बैठकर मोबाइल चला रहे थे। करीबन 1 बजे वह छत से नीचे उतर कर अपने कमरे में चले गए। जब तक वह छत में थे और नीचे आए तब तक सभी कुछ सामान्य था, जिसके चलते माना जा रहा है कि रेकी करने वालों ने नजर बनाकर रखा था और जैसे ही परिवार के लोग अपने-अपने कक्षाओं में पहुंचे बदमाश उसी बीच मूर्तियों में हाथ साफ कर दिया और पीछे रास्ते से घुसे और मुय द्वार से होकर फरार हो गए।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook, Twitter, WhatsApp, Telegram, Google News, Instagram
Next Story
Share it