रीवा

रीवा: संक्रमण के बीच ऑफलाइन एग्जाम को लेकर कॉलेजी छात्रों में आक्रोश, छात्र संगठन विरोध पर उतरें

Aaryan Puneet Dwivedi
15 Jan 2022 6:30 AM GMT
रीवा: संक्रमण के बीच ऑफलाइन एग्जाम को लेकर कॉलेजी छात्रों में आक्रोश, छात्र संगठन विरोध पर उतरें
x
रीवा में बढ़ रहे संक्रमण के बीच विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के ऑफलाइन आयोजन को लेकर छात्र आक्रोशित हैं. शुक्रवार को कलेक्टर से मिलकर छात्रों ने ज्ञापन सौपा है.

रीवा. शुक्रवार को 56 संक्रमण के मामले मिलने के बाद जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 2 सौकड़ा के पार हो गया है. बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय (APS University Rewa) एवं महाविद्यालयों में परीक्षाओं का आयोजन हो रहा है. ऑफलाइन परीक्षाओं की वजह से छात्रों में आक्रोश व्याप्त है, जिसे लेकर छात्र आंदोलनरत हैं. शुक्रवार को कॉलेजी छात्रों ने रीवा कलेक्टर से मिलकर ज्ञापन सौपा है.

बता दें दिन-प्रतिदिन बढ़ते संक्रमण के बीच 17 जनवरी से विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं का आयोजन हो रहा है. जिसमें संभाग भर के 5 दर्जन से अधिक परीक्षा केंद्रों में हजारों छात्र बैठकर ऑफलाइन परीक्षा देंगे. कोरोना के संक्रमण से भयभीत जिले भर के छात्र ऑफलाइन परीक्षाओं को रद्द कर ओपन बुक प्रणाली से परीक्षाओं के आयोजन की मांग कर रहें हैं, लेकिन विश्वविद्यालय, उच्च शिक्षा विभाग और मध्य प्रदेश सरकार छात्रों की बातों को सुनने के लिए भी तैयार नहीं हैं. इस वजह से छात्र आंदोलनरत हो गए हैं.

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में तीसरी लहर को देखते हुए शासन ने स्कूलों को 31 जनवरी तक बंद करने का आदेश जारी किया है. लेकिन महाविद्यालयीन छात्रों को लेकर अब तक किसी भी तरह की सुनवाई नहीं हुई है. जबकि अभी तक हजारों ऐसे छात्र हैं जिन्हे कोरोना के वैक्सीन नहीं लगे हुए हैं. ऐसे में छात्रों को डर है कि भौतिक परीक्षाओं में शामिल होने के बाद कहीं वे संक्रमित न हो जाएं.

कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा

आंदोलनरत छात्र आलोक तिवारी के नेतृत्व में परीक्षाओं को स्थगित करने या ओपन बुक प्रणाली से परीक्षाओं का आयोजन कराने की मांग को लेकर रीवा कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी को ज्ञापन सौंपने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे. उनसे मिलने और ज्ञापन लेने के लिए नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला पहुंचे, लेकिन छात्र कलेक्टर से मिलने के लिए जिद पर अड़े रहें. कलेक्टर छात्रों के बीच पहुंचे और उनकी बातों को सुनते हुए कहा कि इसका निर्णय उच्च शिक्षा विभाग या विश्वविद्यालय प्रशासन ले सकता है.

छात्रों द्वारा कलेक्टर को सौंपे गए ज्ञापन में यह भी मांग की गई है कि जो अधिकारी, कर्मचारी संक्रमित हैं उनके संपर्क में आए सभी अधिकारी, कर्मचारी या स्टाफ की जांच होनी चाहिए और उन्हें आइसोलेट किया जाना चाहिए. यही मांग एनएसयूआई के छात्र नेता अभिषेक तिवारी ने भी की है.

परीक्षा को लेकर आज मंथन

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि परीक्षाओं के आयोजन को लेकर आज सरकार और उच्च शिक्षा विभाग आज मंथन करने जा रहा है. परीक्षाओं का आयोजन ऑफलाइन हो या फिर ओपन बुक प्रणाली से इस पर फैंसला शनिवार को हो जाएगा.

Next Story
Share it