NEWS/55-mauganj_3621.jpg

मऊगंज बिजली विभाग प्रकरण : जन के लिए प्रशासन के पैरों पर जननायक

RewaRiyasat.Com
Sandeep Tiwari
03 Jun 2021

रीवा / Rewa: मध्य प्रदेश के रीवा जिले के मउगंज (Mauganj) विधानसभा में विगत चार दिनों से बिजली की समस्या पर हाई बोल्टेज टकराव चल रहा हैं।

इस टकराव में अब प्रशासन और जननायक आमने सामने हैं। सत्ता पक्ष का नेता होने से विधायक प्रशासन पर दबाव बनाने में हर पैतरा आजमा रहे है।

4 दिन पूर्व बिजली कार्यालम में गद्दा बिछाकर मौन अनसन पर बैठने वाले विधायक एक बार फिर अधीक्षण यंत्री कार्यालय पहुंचे। इस बार उन्होने धरना तो दिया साथ ही जेई एलके तिवारी को बड़ा भाई कहते हुए उनके पैर पकड लिए। जन के लिए प्रशासन के पैर पर गिरे जननायक का किसी ने वीडियो बना लिया और इसे वायरल कर दिया। 

4 दिन पूर्व विधायक ने दिया था धरना

4 दिन पूर्व 6 घंटे प्रदर्शन करने के बाद काफी मानमनौवत के बाद मउगंज विधायक प्रदीप पटेल मौन धरना तोड़ दिया। प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल और भाजपा जिलाध्यक्ष अजय सिंह मनाने पहुंचे थे।

आश्वासन दिया गया था कि तीन दिन में क्षेत्र की बिजली समस्या का निराकरण करने प्रयास शुरू कर दिया जायेगा। लेकिन ऐसा नही किया गया। 

पुनः अधीक्षण यंत्री कार्यालय पहुंचे 

विधायक प्रदीप पटेल का कहना है कि आश्वासन दिया गया था कि 2 जून तक में समस्या का निराकरण किया जाएगा। लेकिन ऐसा नही किया गया। ऐसे में जनता के हितो की रक्षा करने के लिए उन्हे पुनः अधीक्षण यंत्री कार्यालय पहुचना पड़ा।

जहां पहुंचे विधायक ने नईगढ़ी में तैनात जेई एलके तिवारी के पांव पकड़ लिए। जो साफ इसारा कर रहा है कि वह अधिकारियों से कहना चाह रहे हैं कि गलत जानकारी उच्च अधिकारियों को देने के बजाया काम करें । 

विधायक का विभाग पर आरोप

शाम के करीब 6 बजे विधायक प्रदीप पटेल अधीक्षण यंत्री कार्यालय में पहुचे और देर रात 12 बजे तक बैठे रहे। वही विधायक ने भोजन किया।

उन्होने बिजली विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व के अनशन में समस्याओं का समाधान करने के लिए कहा गया था। लेकिन विभागीय आधिकारी इसे निराकरण के बजाय वरिष्ठ अधिकारियों को गलत जानकारी भेज रहा है।

विपक्षी पार्टी का होता सड़क पर दिखता

जनता के चहेते बने मउगंज विधायक प्रदीप पटेल ने कहा कि मैं सत्ता पक्ष का विधायक हूं इसलिए सड़क पर नही बैठ सकता। लेकिन जनता की समस्याओं का समाधान हर हाल मे होना चाहिए। इसके लिए बीच का रास्ता निकालते हुए अधिकारियों के कार्यालय में बैठने लगा। 

सड़क पर नही बैठने की बात कहकर विधायक ने कई बातें एक साथ कह दी। जिसका अर्थ तो लोग यह भी लगा रहे हैं कि कही अगर विधायक प्रदीप पटेल विपक्षी पर्टी में होते या पार्टी विपक्ष में होती तो जनता के लिए वह सड़क पर पहुंच गये होते। वहीं इसारों- इसारों में यह भी कहा दिया कि विपक्ष तो है पर कहां...। 

नहीं हो रहा बिजली समस्या का निराकरण 

ट्रास्फार्मर जले हुए हैं। बरसात का समय आने वाला है।  इस सम्बंध में कई बार बिजली विभाग के अधिकारियों को मागांे का ज्ञापन सौंपा गया लेकिन कोई ध्यान नही दिया जा रहा था। विधायक श्री पटेल ने 67 आवेदनों के निराकरण की मांग की है।

विधायक श्री पटेल का कहना था कि क्षेत्र की जनता बिजली की समस्या से परेशान है। वह बार-बार शिकायत लेकर हमारे पास आ रही है। हमारे कहने के बाद भी विभाग उसमें सुधार नहीं करवा पा रहा है।

क्षेत्र की जनता ने हमें चुना है। आखिर वह किसी भी समस्या पर हमारे पास नही जायेगी तो किसके पास जयेगी।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER