रीवा

रीवा के इस क्षेत्र में रात 10 बजे के बाद कोई दिखा तो उसकी खैर नहीं, रीवा पुलिस का फरमान जारी

Aaryan Puneet Dwivedi
9 Aug 2021 2:38 AM GMT
रीवा के इस क्षेत्र में रात 10 बजे के बाद कोई दिखा तो उसकी खैर नहीं, रीवा पुलिस का फरमान जारी
x

पुलिस अधीक्षक कार्यालय, रीवा (फाइल फोटो)

रेवांचल बस स्टैंड में रात को जमघट लगता है. जिसके चलते आए दिन कोई न कोई वारदात हो रही है. वहीं शहर में बढ़ रहे अपराध के चलते बस स्टैंड की सभी दुकानों को रात 10 बजे के बाद बंद रखने का अनाउंसमेंट सिविल लाइन पुलिस ने किया है.

रीवा. रीवा पुलिस (Rewa Police) ने रेवांचल बस स्टैंड (Rewanchal Bus Stand) के सम्बन्ध में एक फरमान जारी किया है. फरमान है कि रात 10 बजे के बाद रेवांचल बस स्टैंड की कोई भी दुकानें नहीं खुलेंगी. न सिगरेट, चाय, नाश्ता की दुकान खुलेगी और न ही लोगों का जमघट लगेगा. यदि ऐसे वक़्त में एक आदमी भी बस स्टैंड परिसर में दिख गया तो समझो उसकी शामत आ गई.

रीवा पुलिस ने अपने फरमान में बाइकर्स गैंग पर भी विशेष नजर बनाए रखने की बात कही है. जो आए दिन नशा करने के बाद गुटखा व सिगरेट पीने बस स्टैंड आते है. फिर छोटी-मोटी बात को लेकर बवाल मचाते है. जिससे शहर की शांति भंग होती है. शरारती तत्वों के चक्कर में जहां बाहर से आने वाले यात्री परेशान होते है. वहीं पुलिस को भी चैन नहीं मिलता है.

सिविल लाइन पुलिस ने लाउडस्पीकर में की घोषणा

इस बात की जानकारी रेवांचल बस स्टैंड परिसर के सभी दुकानदारों को सिविल लाइन थाना पुलिस (Civil Line Police) द्वारा दे दी गई है. पुलिस ने लाउडस्पीकर के जरिए घोषणा की है कि सभी दुकानों को रात 10 बजे तक बंद कर देना है. अगर दुकानें खुली रहीं या कोई भी दुकानदार 10 बजे के बाद किसी भी तरह से दुकानदारी करते हुए मिला तो उसकी खैर नहीं. वहीं इस परिसर में 10 बजे के बाद जमघट लगाने वालों पर भी कार्रवाई की तैयारी पुलिस ने कर ली है.



(सिविल लाइन थाना, रीवा)

पुलिस ने कहा है कि बस स्टैंड में देर रात तक ऐसे लोगों का मजमा लगता है, जो यात्री नहीं होते. ज्यादातर लोग नशे का शौक पूरा करने यहां पहुंचते हैं. ऐसे में कई दुकानें रातभर खुली रहती है. जिसके कारण लोगों की आवाजाही बनी रहती हैं. वहीं पूरी रात फर्राटा मारते फोर-व्हीलर और टू-व्हीलर से लोग आते-जाते रहते हैं.

यात्रियों का रखा जाएगा ध्यान

सिविल लाइन टीआई ओंकार तिवारी ने कहा कि बस स्टैंड में अब सख्त नजर रखी जाएगी. 10 बजे के बाद दुकानें नहीं खुलेंगी. लेकिन हमें यात्रियों की सुविधाओं का भी ध्यान रखना है. यहां ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है कि रात के लिए इक्का-दुक्का दुकानें निर्धारित दिनों में खोली जाए. आरोप है कि बस स्टैंड में यात्रियों के नाम पर दो-चार लोग ही नजर आते हैं. लेकिन यहां अनावश्यक लोगों की आवाजाही से जो नजारा रहता है, उसे देखकर यात्री डर जाते हैं. आए दिन रात के समय विवाद होते हैं. पूर्व में कई गंभीर घटनाएं यहां हो चुकी हैं.

Next Story
Share it