रीवा

विंध्य प्रदेश का उदय और अस्त कैसे हुआ, कितनी रियासतें रहीं शामिल..

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:45 AM GMT
विंध्य प्रदेश का उदय और अस्त कैसे हुआ, कितनी रियासतें रहीं शामिल..
x
विंध्य प्रदेश का उदय और अस्त कैसे हुआ, कितनी रियासतें रहीं शामिल..रीवा। विंध्य प्रदेश की मांग विगत कई दशकों से हो रही है। म

विंध्य प्रदेश का उदय और अस्त कैसे हुआ, कितनी रियासतें रहीं शामिल..

रीवा। विंध्य प्रदेश की मांग विगत कई दशकों से हो रही है। मप्र के पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी अपने जीवन काल में अलग विंध्य प्रदेश की मांग करते रहे। अब एक बार फिर विंध्य प्रदेश की मांग भाजपा के शासनकाल में होने लगी है। मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी विंध्य प्रदेश को लेकर सक्रिय हैं। लेकिन इससे पहले हम सबको विंध्य के इतिहास को जानना होगा।

विंध्य प्रदेश भारत का एक पूर्व राज्य था जो 23ए603 वर्ग मील के क्षेत्र में फैला था। इसे 25 जनवरी 1950 को विंध्य रेंज के नाम पर विंध्य प्रदेश के रूप में नामित किया गया था। राज्य की राजधानी रीवा थी। यह उत्तर प्रदेश से उत्तर और मध्य प्रदेश से दक्षिण की ओर स्थित है। मध्य भारत के राज्य से घिरा हुआ है । राज्यों के पुनर्गठन अधिनियम के बादए 1956 में विंध्य प्रदेश को मध्य प्रदेश में मिला दिया गया।

विंध्य प्रदेश का उदय और अस्त कैसे हुआ, कितनी रियासतें रहीं शामिल..

रीवा : भ्रष्टाचार का गढ़ बन चुकी मनगवां तहसील, SDM को हटाने मुख्यमंत्री से मिलेंगे समाजसेवी..

कैसे हुआ था विंध्य प्रदेश का उदय

विंध्य प्रदेश राज्य का गठन 12 मार्च 1948 को हुआ था। नवगठित राज्य का उद्घाटन 4 अप्रैल 1948 को हुआ था। इसके गठन के बाद 35 रियासतों को विंध्य प्रदेश राज्य बनाने के लिए मिला दिया गया था । जिनमें रीवा ए पन्ना ए दतिया, ओरछा, अजयगढ़, बौनी, बरौंधाए बिजावर, छतरपुर , चरखारी ,मैहर, नागौद, अलीपुरा , बांका, पहाड़ी ,बेरी, भैसुंडा ;चौबे जागीरद्ध, बिहट, बिजना , धुरवाई, गररौलीगौ, रीहार,जसो जिग्नी, खनियाधाना, कामता रजुला ;चौबे जागीरद्ध ,कोठी ,लुगासी ,नाइगावां, रीबाई ,पहरा ,पालदेओ ,सरिला , सोहावल .तारोन, तोरी.फतेहपुर।

25 जनवरी 1950 को 10 पूर्ववर्ती रियासतों अर्थात् बिहट बांका पहाड़ी ब्योनी बेरी बिजनए चरखारी जिग्नी समथर सरीला और तोरी.फतेहपुर को उत्तर प्रदेश और मध्य भारत में स्थानांतरित कर दिया गया। विंध्य प्रदेश मध्य भारत और भोपाल राज्य के साथ मिलकर 1 नवंबर 1956 को मध्य प्रदेश में मिला लिया गया।

गठन के बादए राज्य को दो डिवीजनों में विभाजित किया गया थाए जिसे आगे 8 जिलों में विभाजित किया गया था। बुंदेलखंड डिवीजन में पन्ना जिला छतरपुर जिला टीकमगढ़ जिला दतिया जिला शामिल थे। रीवा मुख्यालय के साथ बघेलखंड डिवीजन में निम्नलिखित 4 जिले शामिल थे जिनमें रीवा जिला सतना जिला सीधी जिला शहडोल जिला शामिल है।

सतना : 50 किलो गांजा के साथ तीन आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

उज्जैन : प्रेमी के साथ भागी पत्नी, पति ने प्रेमी और पत्नी की कर दी पिटाई, पहुंच गया अस्पताल, अब पुलिस कर..

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

Next Story