रीवा

दिव्यांग के लिए शासन की योजना नहीं बन पा रही सहारा, प्रशासनिक अनदेखी आ रही आड़े, भटकते पांच साल गुजरे

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:46 AM GMT
दिव्यांग के लिए शासन की योजना नहीं बन पा रही सहारा, प्रशासनिक अनदेखी आ रही आड़े, भटकते पांच साल गुजरे
x
जब शासन की योजना बादल जैसे लोगों के लिए नहीं तो फिर किसके लिए बनाई जाती है। एक दिव्यांग को शासन की योजना का लाभ पाने के लिए

दिव्यांग के लिए शासन की योजना नहीं बन पा रही सहारा, प्रशासनिक अनदेखी आ रही आड़े, भटकते पांच साल गुजरे

रीवा। जब शासन की योजना बादल जैसे लोगों के लिए नहीं तो फिर किसके लिए बनाई जाती है। एक दिव्यांग को शासन की योजना का लाभ पाने के लिए भटकते हुए पांच साल गुजर गये लेकिन योजना का लाभ उसे नसीब नहीं हुआ। ऐसा लगता है कि शासन की योजना का लाभ उसे ही मिल सकता है जो लड़ने-झगड़ने में सक्षम हो, दबंग हो, अधिकारियांे एवं नेताओं तक जिसकी पहुंचे हो।

दिव्यांग के लिए शासन की योजना नहीं बन पा रही सहारा, प्रशासनिक अनदेखी आ रही आड़े, भटकते पांच साल गुजरे

जो व्यक्ति अक्षम है उसे कहां मिल पायेगा। इसका उदाहरण आपके सामने है। जानकारी अनुसार जिले के जनपद त्योंथर के ग्राम पंचायत नौबस्ता निवासी बादल तिवारी जो दोनों पैरों से विकलांग हैं। चल-फिर नहीं सकता है। थोड़ा बहुत घिसटकर चल पाता है। वह कई सालों से पेंशन को लेकर परेशान है।

लेकिन जनपद के अधिकारी-कर्मचारियों की अनदेखी के कारण वह लाभ नहीं मिल पा रहा है। पंचायत में पदस्थ सचिव एवं रोजगार सहायक सुनते ही नहीं। दिव्यांग बादल ने बताया कि वह पांच सालों से पेंशन व अन्य सुविधाओं के लिये सचिव से आरजू-मिन्नत कर रहा है लेकिन उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है।

पीड़ित ने इसकी शिकायत नवागत सीईओ अरुण कुमार भारद्वाज से की है जिस पर जनपद सीईओ द्वारा गंभीरता दिखाते हुए सचिव को कारण बताओ नोटिस जारी किया है तथा दो दिवस के अंदर जवाब प्रस्तुत करने का आदेश दिया है।

नशेड़ी प्रोफेसर की बेलगाम कार, पुलिस वाहन और साइकिल सवार को मारी टक्कर, एक की मौत- Rewa News

सतना में अब तक 3516 व्यक्तियों को लगा कोविड-19 का टीका

ATM में ब्लास्ट कर बदमाश ले गये रूपयों का बाक्स, क्षेत्र में सनसनी- Satna News

Next Story