2021/07/81-chakkajam-jaistambh-rewa2.jpg

रीवा के बीहर बराज में मिली गैंगस्टर की डेड बॉडी, परिजनों के हंगामे से 2 घंटे तक थमा रहा शहर, मुआवजे के बाद मानें...

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
11 Jul 2021

रीवा. जिले के एक गैंगस्टर (Gangster) की डेड बॉडी सिरमौर के बीहर बराज में मिली है. उस पर जिले के कई थानों में हत्या, लूट, मारपीट जैसे 29 मामले पंजीबद्ध थें. डेड बॉडी मिलने के बाद शव सड़क पर रखकर परिजनों ने शहर में चक्काजाम कर दिया. 

लम्बे समय से वह फरारी काट रहा था. पुलिस को उसके शहर में होने की सूचना मिली. 9 दिन पहले पुलिस ने उसका पीछा किया था, तब वह नदी की तरफ भाग गया था. माना जा रहा है नदी में गिरने से उसकी मौत हो गई है और उसका शव सिरमौर के टीएचपी फाटक के पास बीहर बराज में मिला है. 

शव को अज्ञात माना गया. उसका फोटो और हुलिया आसपास के थानों में भेजा गया और उसका शव सिरमौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मर्चुरी में रखवा दिया गया था. रविवार की दोपहर मृतक के परिजनों ने शव के सम्बन्ध में सिविल लाइन थाने में संपर्क किया, तब पुलिस ने बताया की सिरमौर थानाक्षेत्र में एक बॉडी रिकवर हुई है. परिजनों ने मृतक की पहचान की. 

पुलिस के अनुसार परिजनों ने शव की शिनाख्त की है. शव दस्सू उर्फ़ दशरथ गुजराती पिता गोविंद गुजराती (27) निवासी कबाड़ी मोहल्ला थाना सिविल लाइन का था. तब सिरमौर पुलिस ने पोस्टमॉर्टम कराकर शव परिजन को सौंप दिया है. 

परिजनों ने लापता होने की सूचना दी थी 

सूत्रों के मुताबिक़ 29 संगीन मामलों के आरोपी दशरथ गुजराती के रीवा में होने की सूचना मिली थी. 2 जुलाई को उसका पुलिस ने पीछा किया. लेकिन वह नदी की ओर भाग गया. पुलिस खाली हाँथ लौट आई थी. अगले दिन यानी 3 जुलाई को दशरथ के परिजनों ने उसके लापता होने की सूचना थाना में दी थी. लेकिन पुलिस ने उसे सीरियस नहीं लिया. अब 11 जुलाई को उसी दशरथ की डेड बॉडी बीहर बराज में मिली है. 

जयस्तंभ में चक्काजाम, 4 लाख के मुआवजे के बाद मानें परिजन

परिजन शव लेकर कबाड़ी मोहल्ला जयस्तंभ पहुंचे जहाँ उन्होंने सड़क पर शव रखकर हंगामा एवं चक्काजाम शुरू कर दिया. शहर के मुख्य मार्ग से वाहनों का आवागमन थम गया और कई किलोमीटर तक लम्बा जाम लग गया. जाम दो घंटे तक लगा रहा. प्रशासन परिजनों को समझाइश देने में जुटा था, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं थें. इसके बाद परिजनों को भरण पोषण के लिए 4 लाख का मुआवजा देने की बात कही गई, तब जाकर परिजन मानें और शव को सड़क से हटा लिया. इसके बाद वाहनों का आवागमन शुरू हुआ. 

कई बार नदी में कूदकर हो चुका था फरार 

बताया जा रहा है कि दस्सू इतना शातिर था कि जब भी उसे पुलिस गिरफ्तार करने के लिए जाती वह नदी में छलांग मारकर पुलिस को चकमा देकर फरार हो जाता था. कभी वह दिल्ली तो कभी मध्य प्रदेश के अन्य जिलों तक चला जाता था. लेकिन इस बार उसकी किस्मत ने साथ नहीं दिया. पुलिस की मानें तो वह बचने के लिए पुराने अंदाज में नदी में कूदा होगा और डूबने से उसकी मौत हो गई. 

29 अपराध दर्ज

सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक ओंकार तिवारी ने बताया कि आरोपी दशरथ गुजराती पर सिविल लाइन थाने में 25 गंभीर अपराध दर्ज थे. साथ ही सिटी कोतवाली में 4 मामले दर्ज थे. वह पहले भी कई बार नदी तैरकर दिल्ली आदि शहरों में फरारी काट चुका था, लेकिन जिस होशियारी से वह नदी पार कर फरारी काटा करता था. उसी नदी में उसकी मौत हो गई.

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER