रीवा

बढ़ते अपराध के चलते रीवा शहर के इस क्षेत्र में नया थाना बनाने की मांग, एसपी को सौपा ज्ञापन

Viresh Singh Baghel
22 Sep 2021 11:12 AM GMT
बढ़ते अपराध के चलते रीवा शहर के इस क्षेत्र में नया थाना बनाने की मांग, एसपी को सौपा ज्ञापन
x
रीवा शहर में बढ़ रही आबादी और अपराध के चलते एक नया थाना बनाए जाने की मांग रखी गई है. इसके लिए एसपी को ज्ञापन सौपा गया है.

रीवा। बढ़ता शहर और लगातार बढ़ रहे अपराध के चलते रीवा में एक और थाना खोले जाने की मांग उठाई जा रही है। रतहरा क्षेत्र के रहवासी एसपी कार्यालय पहुचे और ज्ञापन पत्र देकर मांग की है कि पुलिस अधिकारी रतहरा में पुलिस व्यवस्था बढ़ाए।

नया थाना बनाया जाए

रतहरा क्षेत्र के रहवासियों ने बुधवार को एसपी नवनीत भसीन से मांग की है कि शहर के रतहरा में एक अतिरिक्त थाना बनाया जाए। जिससे यहां के लोगो को पुलिसिया सुविधा मिल सकें। उन्होने बताया कि जो सिटी कोतवाली थाना संचालित है वह फोर्ट रोड में है और उसके अंतर्गत रतहरा, भुडंहा, जिउला आदि आते है। थाना की दूरी ज्यादा होने के कारण उन्हे समय पर पुलिस की मदद नही मिल पाती है। ऐसे में अतिरिक्त पुलिसिया सुविधा बनाई जाए और नया थाना बनाया जाय।

बढ़ रहा शहर, बढ़ रहे अपराध

बताया गया है कि रतहरा क्षेत्र में लगातार अबादी के साथ ही क्षेत्र भी बढ़ रहा है। तो वही तरह-तरह के अपराध हो रहे है। थाना दूर होने के कारण समय पर पुलिस की मदद नही मिल पा रही है।

दरअसल समान थाना से रतहरा क्षेत्र की दूरी डेढ़ से दो किलोमीटर है जबकि सिटी कोतवाली 10 से 12 किलो मीटर दूर है। ऐसे में पुलिस अधिकारियों को कहना है कि थाना की सीमा रेखा में बदलाव करने को लेकर हेडक्वाटर को प्रस्ताव भेजा गया है। जिससे व्यवस्था बनाई जा सकें।

रीवा शहर में अभी 7 थाना संचालित है

  1. सिविल लाइन थाना, रीवा
  2. सिटी कोतवाली, रीवा
  3. बिछिया थाना, रीवा
  4. अमहिया थाना, रीवा
  5. समान थाना, रीवा
  6. चोरहटा थाना, रीवा
  7. विश्वविद्यालय थाना, रीवा

ये दो नए थाना खुले

शहर में बढ़ती आबादी को देखते हुए दो नए पुलिस थानों बिछिया और अमहिया थाना को संचालित करने की अनुमति पुलिस हेडक्वार्टर द्वारा दी गई थी, जिनके शुरू होने से सिविल लाइन थाना और सिटी कोतवाली थाना पर दवाब कुछ हद तक कम हो गया है इसके पहले रीवा शहर में सिर्फ 5 पुलिस थाना ही संचालित थें। वहीं शहर के बढ़ते घनत्व और आबादी के चलते कुछ और थाना खोले जाना आवश्यक हो गया है।

Next Story
Share it