रीवा

रीवा में निरीक्षण के दौरान 14 नर्सिंग होम में मिली खामियां, नए मरीज देखने और भर्ती पर रोक

रीवा में निरीक्षण के दौरान 14 नर्सिंग होम में मिली खामियां, नए मरीज देखने और भर्ती पर रोक
x
रीवा में निजी नर्सिंग होम में फायर सुरक्षा की व्यवस्था देखने लगातार दूसरे दिन भी प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम सक्रिय रही।

रीवा। निजी नर्सिंग होम में फायर सुरक्षा की व्यवस्था देखने लगातार दूसरे दिन भी प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम सक्रिय रही। दो दिन के अंदर शहर के 27 निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया गया जिसमें सिर्फ 13 ही मानक के अनुकूल मिले। जिन 14 नर्सिंग होम में फायर सुरक्षा लाइसेंस नहीं मिला वहां नये मरीजों को देखने और भर्ती करने पर रोक लगा दी गई है।

गुरुवार को शहर में संचालित 15 नर्सिंग होम का निरीक्षण किया गया। नायब तहसीलदार यतीश शुक्लाए सीएमएचओ डॉ एनएन मिश्रा, डा. ज्ञानेश मिश्रा, डॉ. प्रदीप शुक्ला, डॉ. केबी गौतम सहित अन्य सदस्यों ने नर्सिंग होम पहुंचकर फायर सुरक्षा की गाइड लाइन के अनुसार व्यवस्थाओं का आंकलन किया। जिसमें 11 नर्सिंग होम में फायर सुरक्षा का न तो लाइसेंस मिला और न ही आवश्यक उपकरण ही पाये गए।

इन नर्सिंग होम को नोटिस के साथ ही हिदायत

मानक के अनुकूल संचालित न होने वाले नर्सिंग होम को नोटिस जारी करते हुए नये मरीजों को देखने और उन्हें भर्ती करने पर रोक लगाने के साथ ही यह हिदायत दी गई है कि एक माह में यदि फायर सुरक्षा को लेकर आवश्यक प्रक्रिया पूरी नहीं की गई तो ताला लगा दिया जाएगा। जिन 11 नर्सिंग होम में नये मरीजों को देखने और भर्ती पर रोक लगाई गई है उनमें पसोनियाए केएल अग्रवालए आरोग्यमए लाइफ केयर हास्पिटलए रेनबोए क्षितिजए गणेश आई हास्पिटलए लक्ष्मी हास्पिटलए नवोदय हास्पिटलए मिश्रा नियोनेटल चाइल्ड केयर एवं विंध्या हास्पिटल शामिल है। यहां गौरतलब है कि बुधवार को 23 निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया गया थाए जिसमें तीन में कमियां पाई गई थी।

जिले में संचालित हैं 52 नर्सिंग होम

रीवा जिले में 52 नर्सिंग होम हैं जिसमें 48 रीवा शहर में हैं। अब तक 27 नर्सिंग होम का निरीक्षण बीते दो दिन के अंतराल में किया गया है। निरीक्षण के दौरान 14 में खामियां पाए जाने पर नये मरीजों की भर्ती रोक दी गई है।

Next Story