रीवा

रीवा में सैकड़ों क्लीनिक, नर्सिंग होम और निजी अस्पतालों में अनियमितताएं, लेकिन सिर्फ गुरुकृपा ही CMHO के निशाने में, कहीं ये व्यक्तिगत तो नहीं?

Aaryan Puneet Dwivedi
14 Sep 2021 5:19 AM GMT
रीवा में सैकड़ों क्लीनिक, नर्सिंग होम और निजी अस्पतालों में अनियमितताएं, लेकिन सिर्फ गुरुकृपा ही CMHO के निशाने में, कहीं ये व्यक्तिगत तो नहीं?
x
शहर सहित जिले के कई प्राइवेट अस्पताल व नर्सिंग होम सहित पैथालॉजी, एक्सरे सेंटर संचालित है, जहां पर मरीज बहुत पास-पास खड़े होते हैं, सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है और न ही कोविड के नियम मान्य किए जा रहे हैं .

रीवा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) डॉ. बीएल मिश्रा ने गुरूकृपा नर्सिंग होम एवं क्लीनिक संचालक डॉ. प्रमोद जैन को नर्सिंग होम एवं क्लीनिक का रजिस्ट्रेशन रद्द करने का नोटिस जारी किया गया है।

उल्लेखनीय है की जिले की टीम द्वारा निरीक्षण के दौरान यह पाया गया था कि ओपीडी मरीजों की बहुत भीड़ थी, प्रोटोकाल का पालन नहीं किया जा रहा था, कोई भी मरीज सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहा था, साथ ही मरीजों के बैठने की कोई व्यवस्था नहीं थी। पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण क्लीनिक के सामने सड़क में जाम लगा था।

उपरोक्त अव्यवस्थाओं के कारण मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने कारण बताओ नोटिस जारी कर डॉक्टर प्रमोद जैन से स्पष्टीकरण मांगा था लेकिन डॉ. जैन द्वारा भेजा गया उत्तर संतोषजनक न होने के कारण मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने उपचर्यागृह तथा रूजोपचार के एक्ट 1973 के तहत नर्सिंग होम एवं क्लीनिक का रजिस्ट्रेशन निरस्त करने की चेतावनी दी है। उन्हें इस सम्बन्ध में नोटिस जारी किया है।

हालांकि इस मामले को लेकर तरह तरह की चर्चाएं भी हो रही है, चर्चाओं में कहा जा रहा है कि शहर सहित जिले के कई प्राइवेट अस्पताल व नर्सिंग होम सहित पैथालॉजी, एक्सरे सेंटर संचालित है, जहां पर मरीज बहुत पास-पास खड़े होते हैं, सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है और न ही कोविड के नियम मान्य किए जा रहे हैं लेकिन मेडिकल टीम को एक ही नर्सिंग होम अब तक मिला है। जबकि रोजाना ही प्राइवेट क्लीनिक, अस्पताल, नर्सिंग होम सहित पैथालॉजी व एक्सरे सेंटर में भीड़ जमा रहती है।

कहीं ये व्यक्तिगत लड़ाई तो नहीं?

चर्चा है कि नियमों का हवाला देकर हो रही कार्यवाहियों में व्यक्तिगत लड़ाई लड़ी जा रही है। अब हकीकत जो भी हो लेकिन प्राइवेट अस्पताल व नर्सिंग होम, एक्सरे, पैथालॉजी, सहित मेडिकलों स्टोरों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां खुलेआम उड़ाई जा रही हैं, लेकिन जिम्मेदार मौन साधे बैठे हुए हैं।

Next Story
Share it