रीवा

बाबूगिरी बंद, कार्यालयों में अटैच शिक्षकों को जाना होगा स्कूल, बच्चों को पढ़ाएंगे : REWA NEWS

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:43 AM GMT
बाबूगिरी बंद, कार्यालयों में अटैच शिक्षकों को जाना होगा स्कूल, बच्चों को पढ़ाएंगे : REWA NEWS
x
बाबूगिरी बंद, कार्यालयों में अटैच शिक्षकों को जाना होगा स्कूल, बच्चों को पढ़ाएंगे : REWA NEWS रीवा। कार्यालयों में अटैच होकर अपना मूल काम

बाबूगिरी बंद, कार्यालयों में अटैच शिक्षकों को जाना होगा स्कूल, बच्चों को पढ़ाएंगे : REWA NEWS

रीवा। कार्यालयों में अटैच होकर अपना मूल काम छोड़कर टाइम पास कर रहे शिक्षकों को अब स्कूल जाना होगा और बच्चों को पढ़ाना पड़ेगा। लंबे समय से मूल पद के विरुद्ध बाबू गिरी करने वाले शिक्षकों को जल्द स्कूलों में आमद दर्ज करानी होगी।

कार्यालय में बाबूगीरी करने वाले शिक्षक अब मूद पद पर वापस लौटेंगे। ज्ञानपुंज के सदस्यों को स्कूल भेजने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। सालों बाद अब शिक्षकों को स्कूलों में आमद दर्ज कर पढ़ाना होगा। ज्ञात हो कि स्कूल शिक्षा विभाग ने अलग अलग विषयों के विशेषज्ञों की एक टीम बनाई थी। इसे ज्ञान पुंज कहा गया था।

Rewa समेत देश के 6 शहरों से Statue of Unity के लिए डायरेक्ट ट्रेन, रविवार को PM Modi देंगे हरी झंडी

ज्ञानपुंज टीम को स्कूलों में पहुंच कर कक्षाएं लेनी थी। यह ज्ञानपुंज टीम सिर्फ नाम मात्र तक की सीमित रह गई थी। इस टीम का गठन तो हुआ लेकिन काम कुछ नहीं हुआ। पिछले 8 सालों से टीम के सदस्य डीईओ कार्यालय में सिर्फ अटैच ही थे और फाइलें ढो रहे थे। इतना ही नहीं, इसमें कई शिक्षकों ने कार्यालय में अटैच रहते हुए मप्र शिक्षक सम्मान तक ले लिया था। अब इनके दिन लद गए हैं।

बाबूगिरी बंद, कार्यालयों में अटैच शिक्षकों को जाना होगा स्कूल, बच्चों को पढ़ाएंगे : REWA NEWS

कोरोना लॉकडाउन के कारण स्कूलें बंद हैं। ऐसे में क्षेत्रीय भ्रमण भी बंद है। यही वजह है कि आयुत लोक शिक्षण ने ज्ञान पुंज दल के सभी सदस्यों को उनकी पदांकित संस्था के लिए तुरंत कार्यमुत करने के निर्देश दिए हैं। इन्हें 15 जनवरी तक स्कूलों में आमद दर्ज कराने को कहा गया है। सिर्फ दो ही बचे थे ।रीवा डीईओ कार्यालय में वैसे तो पांच लोगों को ज्ञानपुंज टीम में रखा गया था। इसमें से कुछ महिला शिक्षक भी थीं।

महिलाओं को तो पहले ही मुक्त कर दिया गया था, लेकिन दो शिक्षक अब भी अटैच चल रहे थे। इसमें बीडी त्रिपाठी और अतुल उपाध्याय शामिल थे। इन दोनों शिक्षकों को इनके स्कूलों के लिए शुक्रवार को मुक्त कर दिया जाएगा। अब इन्हें स्कूलों में पढ़ाना होगा।

मध्यप्रदेश : RTO विभाग का कारनामा, बाइक सवार पर लगाया 1 लाख 13 हजार का जुर्माना

कानून के बाद भी नहीं थम रहा तीन तलाक का मामला, निकाह के 14 वर्ष बाद शौहर ने दिया….

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

Next Story