एक ऐसा ‘नरक का दरवाजा’ जहां जाने के बाद न कोई व्यक्ति लौटा न जानवर, चौका देगी आपको ये खबर

General Knowledge

एक ऐसा ‘नरक का दरवाजा’ जहां जाने के बाद न कोई व्यक्ति लौटा न जानवर, चौका देगी आपको ये खबर

नई दिल्ली: कभी-कभी हम उन बातो को सुनते है जिस पर विश्वास कर पाना आसान नहीं होता है. दुनिया के कई कोनो में ऐसा रहस्य सुनने को मिलता है जो हमारी रूह को भी कंपा देता है. आज हम आपको उस जगह के बारे में बता रहे है जिसे ‘नरक का दरवाजा’ कहा जाता है. सुना है की वहां जाने व्यक्ति या जानवर कभी लौट के नहीं आता है. 

ये जगह तुर्की के पमुक्कल शहर (Pumukkal city) का है. जहा पर एक दरवाजा है जहा पर जाने वाला व्यक्ति या जानवर कभी लौट के नहीं आता है. ये बात आपको सुनने में अटपटी लगेगी लेकिन ये सत्य है. 

पमुक्कल शहर में एक मंदिर है जिसमे जाने वाले व्यक्ति कभी लौट के नहीं आता है और उसका अंदर क्या होता है ये सिर्फ एक कहानी बनकर रह गई है. वैज्ञानिको का माने तो इस गुफा में 91 प्रतिशत कार्बनडॉक्साइड मौजूद है जो जहर का काम करता है और व्यक्ति की जान तक ले लेता है. 

वही दूसरी तरफ यहां के लोग बताते हैं कि प्लूटो देवता के नाम पर जानवरों को मरने के लिए इस गुफा में डाल दिया जाता था और यूनानी देवता की जहरीली सांसों (Poisonous breaths) की वजह से ये मर जाते थे।

खैर ये सत्य है या असत्य इस बारे में तो कोई नहीं जनता लेकिन वहां के रहसवासियो ने जो बताया उसको भी नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है. मिली जानकरी के मुताबिक वैज्ञानिक आज भी इस बारे में लगातार रिसर्च कर रहे है लेकिन मंदिर के द्वार का खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है. 

[signoff]