राष्ट्रीय

पंजाब कांग्रेस की कमान सिद्धू को मिली, सोनिया ने नवजोत को प्रदेश अध्यक्ष बनाया, 4 वर्किंग प्रेसिडेंट भी बने

News Desk
18 July 2021 11:58 PM GMT
पंजाब कांग्रेस की कमान सिद्धू को मिली, सोनिया ने नवजोत को प्रदेश अध्यक्ष बनाया, 4 वर्किंग प्रेसिडेंट भी बने
x
2022 में पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं. इसके लिए पंजाब में कांग्रेस ने प्रदेश यूनिट की घोषणा कर दी है. पूर्व क्रिकेटर एवं कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) को प्रदेश अध्यक्ष (punjab congress state president) की कमान सौंपी गई है. इसके साथ ही राज्य में 4 वोर्किंग प्रेजिडेंट भी सोनिया गाँधी द्वारा नियुक्त किए गए हैं. 

2022 में पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं. इसके लिए पंजाब में कांग्रेस ने प्रदेश यूनिट की घोषणा कर दी है. पूर्व क्रिकेटर एवं कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) को प्रदेश अध्यक्ष (punjab congress state president) की कमान सौंपी गई है. इसके साथ ही राज्य में 4 वोर्किंग प्रेजिडेंट भी सोनिया गाँधी द्वारा नियुक्त किए गए हैं.

बताते चलें नवजोत सिंह सिद्धू की नियुक्ति के लिए माह भर से खींचतान चल रही थी. नवजोत काफी समय से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ बगावत करते आ रहें हैं. इसी वजह से अमरिंदर भी सिद्धू के प्रदेश अध्यक्ष बनने के रास्ते में रोड़ा बन गए थें.

हांलाकि अब कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है. लेकिन उनमें भी बंदिशे साथ आई है. नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच विवाद के सुलह के लिए पार्टी हाईकमान ने चार सूत्रीय फार्मूला तैयार किया था. इसी के तहत सिद्धू और 4 वर्किंग प्रेजिडेंट की नियुक्तियां की गई है.

4 वर्किंग प्रेजिडेंट भी बनाए गए

सिद्धू के साथ 4 वर्किंग प्रेजिडेंट भी बनाए गए हैं. कुलजीत नागरा, पवन गोयल, सुखविंदर सिंह डैनी और संगत सिंह को यह जिम्मेदारी दी गई है. यह पहले से तय था कि कार्यकारी अध्यक्षों के नाम मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह तय करेंगे. अब सिद्धू को इन चारों से तालमेल बिठाना होगा.

हाईकमान से भी नाराज कैप्टन

कैप्टन अमरिंदर सिंह पार्टी हाईकमान से भी नाराज चल रहे हैं. उनका मानना है कि पंजाब कांग्रेस में हुई कलह को हाईकमान ने सही ढंग से हैंडल नहीं किया. इस वजह से पार्टी के साथ उनकी छवि को भी नुकसान पहुंचा है. इसलिए अब कैप्टन सिद्धू की माफी की शर्त पर अड़ गए हैं.

Next Story
Share it