VEDANATA_1.jpg

SC ने Tuticorin में Vedanta के ऑक्सीजन प्लांट को शुरू करने की अनुमति दी

RewaRiyasat.Com
Ankit Neelam Dubey
27 Apr 2021

सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को Vedanta को तमिलनाडु में Tuticorin में अपने बंद ऑक्सीजन प्लांट का संचालन करने की अनुमति देते हुए कहा कि ऑक्सीजन के लिए "राष्ट्रीय आवश्यकता" को देखते हुए यह आदेश पारित किया गया है।

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, एल नागेश्वर राव और एस रवींद्र भट की पीठ ने कहा कि वेदांत को इस आदेश की आड़ में अपने तांबा गलाने वाले संयंत्र को शुरू करने और उसे संचालित करने की अनुमति नहीं दी।

घर बैठे चेक करे अपना ऑक्सीजन लेवल, अभी ख़रीदे OXIMETER

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वेदांत द्वारा ऑक्सीजन के उत्पादन पर कोई राजनीतिक रोक नहीं होनी चाहिए क्योंकि देश एक राष्ट्रीय संकट का सामना कर रहा है। SC ने कहा कि वेदांत को अपने ऑक्सीजन प्लांट के संचालन की अनुमति देने के आदेश से इसके पक्ष में कोई इक्विटी नहीं बनेगी।

सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु को जिला कलेक्टर और वें तूतीकोरिन पुलिस अधीक्षक सहित एक पैनल बनाने के लिए कहा, ताकि वेदांत के ऑक्सीजन प्लांट में गतिविधियों पर नज़र रखी जा सके।

23 अप्रैल को, SC ने कहा था कि ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग मर रहे हैं, और तमिलनाडु सरकार से इसपर सवाल किया था कि क्यों वह COVID-19 रोगियों के इलाज के लिए ऑक्सीजन के उत्पादन के लिए तूतिकोरिन में वेदांता की स्टरलाइट कॉपर यूनिट को क्यों शुरू नहीं कर सकती है, जो प्रदूषण के चलते मई 2018 से बंद है। 

यह भी पढ़े: 'अब वक्त आ गया है, जब हमें घर के अंदर परिवार के साथ रहते हुए भी मास्क पहनना चाहिए, मेहमानों को घर पर न बुलाएं' : नीति आयोग

SIGN UP FOR A NEWSLETTER