vindhyacoronabulletin/sky light .jpg

आकाशीय बिजली का प्रकोप, 70 से अधिक लोग मौत की नींद सोये

RewaRiyasat.Com
News Desk
12 Jul 2021

नई दिल्ली। धरती के मानव सहित अन्य जीवों पर प्रकृति का प्रकोप किसी न किसी रूप में लगातार देखा जा रहा है। कहीं बीमारी तो कहीं दुर्घटना तो कहीं आकाशीय बिजली जीवों को अपना ग्रास बना रही है। एक जानकारी बीते दिवस आकाश में छाये बादलों बीच आकाशीय बिजली गिरने से उत्तरप्रदेश, राजस्थान और मध्यप्रदेश में 70 से अधिक लोगों की मौत हो गई। हालांकि यह आंकड़ा सिर्फ तीन प्रदेशों का है, देश भर में आकाशीय बिजली की घटनाओं के आंकड़ों की जानकारी ली जाय तो यह काफी ज्यादा हो सकते हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक उत्तरप्रदेश में अलग.अलग जिलों में अभी तक 41 लोगों की बिजली गिरने से मौत होने की सूचना मिली है। साथ ही राजस्थान में भी बिजली गिरने से करीब 20 लोगों की मौत अलग.अलग स्थानों पर हुुई है। राजस्थान में मरने वालों में 7 बच्चे भी शामिल है। गौरतलब है उत्तर भारत में मानसून ने दस्तक दे दी है और कई राज्यों में जोरदार बारिश के साथ बिजली भी कड़क रही है। बीती रात उत्तरप्रदेशए राजस्थान और मध्यप्रदेश में कई जिलों में भारी बारिश भी हुई है। बिजली गिरने के कारण मध्यप्रदेश में 7 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

राजस्थान में आकाशीय बिजली के कहन से 20 लोगों की मौत हुई है और मरने वालों में 7 बच्चे भी शामिल हैं। सिर्फ जयपुर में 16 लोगों ने बिजली गिरने से अपनी जान गवां दी है। कनवास गांव में 4 और धौलपुर बाड़ी में 3 बच्चों की मौत हुई। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शोक व्यक्त करते हुए कहा है, ष्आकाशीय बिजली गिरने से कनवास गांव कोटा में 4 एवं कूदिन्ना गांव बाड़ी धौलपुर में 3 बच्चों की मृत्यु बेहद हृदयविदारक है।

उत्तरप्रदेश के प्रयागराज में आकाशीय बिजली गिरने के कारण 2 बच्चों समेत 13 लोगों मौत बिजली गिरने के कारण हुई है। साथ ही 8 मवेशियों की भी मौत हो गई। इधर कानपुर में 2 महिला सहित 5 लोगों की मौत होने की सूचना है और बिजली गिरने के कारण 3 लोगों की हालत गंभीर है। फिरोजाबाद में आकाशीय बिजली गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई है। कौशांबी में 2 और मिर्जापुर में 1 बच्चे की मौत हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER