राष्ट्रीय

प्रवासी मजदूरों में लॉकडाउन का भय, मुंबई स्टेशनों में रेला, पुलिस ने रोका तो बोले- 'मर जाएंगे भूखे'

Viresh Singh Baghel
7 Jan 2022 7:54 AM GMT
Fear of lockdown among migrant laborers in mumbai
x
मुबंई (Mumbai) से प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू हो गया है

Mumbai Lockdown News: प्रवासी मजदूरों में एक बार घर वापसी की जल्दी है और वे घर के लिए निकल पड़े है। मजदूरों में तीसरी महामारी एवं लॉकडाउन (Lockdown) का भय देखा जा रहा है।

मुंबई (Mumbai) में प्रवासी मजदूर रेलवे स्टेशन (Railway Station) पर डेरा जमाए हैं। उनका प्रयास है कि लॉकडाउन से पहले वे किसा तरह से अपने गांव-अपने घर पहुंच जाएं।

डरे हुए है मजदूर

मुंबई में रेलवे स्टेशन से प्रवासियों को हटाने के लिए पुलिस ने डंडे भी चलाए, इतना ही नही मजदूरों को टिकट नही मिल पाया। इसके बावजूद मजदूर वहां से नहीं हिले। उनमें भय है कि मुंबई में लॉकडाउन लग गया, तो वे भूखे मर जाएंगे।

दरअसल, मुंबई में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। ऐसे में टोटल लॉकडाउन की चर्चा से प्रवासी और खासतौर पर मजदूर बेहद डरे हुए हैं।

यूपी-बिहार आदि के है मजदूर

जानकारी के तहत मुंबई में कुर्ला के लोकमान्य तिलक टर्मिनस से ही उत्तर प्रदेश और बिहार जाने वाली ज्यादातर ट्रेनें रवाना होती हैं। जंहा प्रवासियों की भारी भीड़ है।

इसमें ज्यादातर मजदूर वर्ग के लोग है। सिर पर बोरा, बैग और अटैची, बाल्टी लिए मजदूर लोग स्टेशन पहुच रहे है। ज्यादातर की ट्रेन सुबह 5.25 बजे या उसके बाद की थीं, लेकिन लोग लॉकडाउन की दहशत के बीच रात को ही स्टेशन पहुंच गए।

भूख-प्यास से ज्यादा लॉकडाउन का भय

भूख-प्यास से ऊपर लोगों के चेहरे पर एक ही बात की फिक्र दिखी। लॉकडाउन में न फंसकर घर लौट जाने की। चिंता, डर और मजबूरी के बीच मजदूर सुबह के 4 बजे स्टेशन के सामने जमा हो गए। गेट खुलते ही अफरातफरी मैच गई। वे भागकर ट्रेन में किसी तरह से चढ़ने का प्रयास करते रहे।

टूट सकता है कोरोना का कहर

जा रहे लोगो की स्टेशन में न तो काई जांच पड़ताल हुई और न ही सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई पड़ी। कई लोगों ने मास्क भी नहीं पहने थे। ट्रेन खड़ी होते ही जनरल डिब्बे खचाखच भर गए। ऐसे में यूपी-बिहार का रही ये ट्रेनें कोरोना की सुपर स्प्रेडर बन सकती हैं। मुबंई में लोगों के डर और पलायन का यह सिलसिला जारी है।

Next Story
Share it