2020/WORK_FROM_HOME.jpg

WORK FROM HOME के कारण इन चीज़ो में तेजी से आया उछाल, घरो में बढ़ी डिमांड, पढ़िए जरूरी खबर

RewaRiyasat.Com
Shashank Dwivedi
30 Mar 2021

WORK FROM HOME के कारण इन चीज़ो में तेजी से आया उछाल, घरो में बढ़ी डिमांड, पढ़िए जरूरी खबर 

कोरोना महामारी के कारण अधिकांश लोग वर्क फ्रॉम होम (WORK FROM HOME) कर रहे हैं। इस कारण घर खरीदारों की प्राथमिकता में बदलाव आ रहा है। अधिकांश लोग अतिरिक्ति कमरे के साथ बड़े घरों को प्राथमिकता दे रहे हैं। रियल एस्टेट ब्रोकिंग फर्म स्कवायर यार्ड्स की एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है।

बड़े घरों के लिए ऑनलाइन सर्च में इजाफा

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्कवायर यार्ड्स प्लेटफॉर्म पर बड़े घरों के लिए ऑनलाइन सर्च में 70 फीसदी का उछाल आया है। इस सेगमेंट में यह अभी तक का सबसे बड़ा उछाल है। डाटा के मुताबिक, 2020 की पहली छमाही के मुकाबले दूसरी छमाही में तीन और चार बीएचके घरों की मांग में 40 फीसदी का इजाफा रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि लोग एक अलग कमरे वाले घरों को ज्यादा प्राथमिकता दे रहे हैं। इस कमरे को वर्क फ्रॉा होम के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

सब-अर्बन में बढ़ी घरों की मांग

रिपोर्ट में कहा है कि किफायती घर एक प्रमुख मुद्दा हो सकता है। लोग अब सब-अर्बन की ओर शिट हो रहे हैं। इस कारण सब- अर्बन क्षेत्र में बड़े घरों की मांग बढ़ रही है। इसका कारण यह है कि इन क्षेत्रों में किफायती घर मिल रहे हैं। कोविड-19 से पहले लोग सिटी सेंटर के पास घर को प्राथमिकता दे रहे थे। लेकिन वर्क फ्रॉम होम ने सब-अर्बन में घरों की मांग को बढ़ावा दिया है। मुंबई, पुणे, हैदराबाद, बेंगलुरु में सब-अर्बन क्षेत्रों में घरों की मांग बढ़ी है।

कोविड-19 के बाद अलग कमरा बना प्रमुख ट्रेंड

रिपोर्ट के कहा गया है कि कोविड19 के बाद स्टडी या होम ऑफिस के लिए अलग कमरे की मांग एक महत्वपूर्ण ट्रेंड बनकर उभरा है। स्टडी या होम होम ऑफिस के लिए अलग कमरे वाले घर की खरीदारी में 48 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है। स्कवायर यार्ड्स के बिक्री के आंकड़े बताते हैं कि कुल प्रॉपर्टी में 46 फीसदी ऐसी प्रॉपर्टी की बिक्री हुई है जिनमें अतिरिक्त कमरा था।

मुंबई में लग्जरी हाउस के रजिस्ट्रेशन में तेजी आई

कोविड-19 के मामलों की बढ़ी संख्या और 31 मार्च के बाद स्टांप ड्यूटी में मिल रही छूट के खत्म होने को देखते हुए मुंबई में लग्जरी हाउस के रजिस्ट्रेशन में तेजी आ गई है। इन लग्जरी हाउस की कीमत 30 करोड़ रुपए से ज्यादा है। जेएलएल इंडिया के सीनियर डायरेक्टर रितेश ए मेहता का कहना है कि इन हाई-वैल्यू वाले अपार्टमेंट्स के लिए 2 से 3 फीसदी की स्टॉप ड्यूटी छूट काफी बड़ी राशि होती है। इस कारण लग्जरी हाउस के रजिस्ट्रेशन तेजी आ गई है।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER