बीजों के रहस्यमय पैकेट चीन से बिन मंगाये लोगों के घर पहुंच रहे, सरकार ने लोगो को किया सावधान

बीजों के रहस्यमय पैकेट चीन से बिन मंगाये लोगों के घर पहुंच रहे, सरकार ने लोगो को किया सावधान

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

बीजों के रहस्यमय पैकेट चीन से बिन मंगाये लोगों के घर पहुंच रहे, सरकार ने लोगो को किया सावधान

चीन से अब एक नया संकट दुनिया में फैलता दिख रहा है जिसको लेकर कृषि मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों और लोगों को चेताया है. असल में चीन से डाक के द्वारा सीधे कई देशों के लोगों के घरों तक बीजों से भरे रहस्यमय पैकेट आ रहे हैं. मंत्रालय का कहना है कि यह दूसरे देशों की जैव-विविधता को नुकसान पहुंचाने का प्रयास हो सकता है.

कृषि मंत्रालय मुस्तैद

हालांकि, भारत में अभी ऐसा कोई पैकेट नहीं आया है, इसके बावजूद कृषि मंत्रालय इसको लेकर मुस्तैद है. मंत्रालय का कहना है कि ये रहस्यमय पैकेट किसी देश की जैवविधिता के लिए खतरा हो सकते हैं. पिछले हफ्ते जारी एक चेतावनी में कृषि मंत्रालय ने फसलों से जुड़ी संभी संस्थाओं को सतर्क रहने की सलाह दी है. गौरतलब है कि अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड, जापान और कई यूरोपीय देशों के लोगों के पास चीन से ऐसे कई पैकेट पहुंच चुके हैं.

कृषि मंत्रालय ने क्या कहा 

विभिन्न सरकारी एजेंसियों, रिसर्च संस्थाओं और कंपनियों को भेजे लेटर में मंत्रालय ने कहा है, ‘पिछले कुछ महीनों मे बीजों से भरे हजारों रहस्यमय पैकेट दुनिया के कई देशों में भेजे गए हैं. अमेरिका के कृषि मंत्रालय ने इसे एक ‘ब्र​शिंग स्कैम’ और ‘तस्करी’ बताया है. ऐसी खबरें हैं कि बिना मंगाए पहुंच जाने वाले इन बीजों के पैकेटों में घातक प्र​जाति के बीज हो सकते हैं या इनके द्वारा कोई रोगजनक तत्व या बीमारी फैलाने की कोशिश हो सकती है. इनसे देश के पर्यावरण, कृषि पारिस्थितिकी और राष्ट्रीय सुरक्षा को भारी खतरा हो सकता है.’

लोगो को किया सतर्क 

तेलंगाना राज्य बीज विकास निगम के प्रबंध निदेशक के केशवुलु ने बताया, ‘बहुत सी बीज कंपनियां कई देशों में बीजों का आदान-प्रदान करती हैं. लेकिन ऐसे बीज (संदिग्ध किस्म के) यदि भारत आते हैं तो वे तेजी से फैल जाएंगे और हमारी पारिस्थितिकी और जैव-वि​विधता को नष्ट कर सकते हैं. भारत एक बड़ा देश है, इसलिए हमें खासतौर से सतर्क रहना होगा.’

चीन की सफाई

दूसरी तरफ, चीन सरकार ऐसे किसी वाकये से साफ इंकार कर रही है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने पिछले महीने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि चीन में तो डाक से बीज भेजने पर रोक है. उनका कहना है कि इन रहस्यमय पैकेटों पर जो चीनी एड्रेस दिए गए हैं वे फर्जी हैं.

बड़ी खबर: दुनिया को दो दिन बाद मिलेगी पहली कोरोना वैक्सीन, रूस कराएगा रजिस्ट्रेशन

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी

जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram