CORONA patient recovering in MP, second in recovery ...

क्या होता है Quarantine, कैसे आपको यह Coronavirus से बचा सकता है ?

Health राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय लाइफस्टाइल

क्या है होम क्वारंटाइन (Quarantine) ? घर पर कैसे कर सके हैं खुद को क्वारंटाइन और अपने परिजनों को किस तरह इससे संक्रमित होने से बचा सकते हैं, जानिए इन सब सवालों के जवाब।

क्या है होम क्वारंटाइन ?

होम क्वारंटाइन का मतलब घर पर अपने आप को दूसरे लोगों से अलग कर लेना है। अगर आपको कोरोना वायरस से संक्रमित होने का संदेह है या फिर सर्दी-जुकाम लगा हुआ है तो आप एक कमरे में अपने आप को अलग कर लें। इससे आपके परिवार में किसी को वायरस नहीं फैलेगा।

क्वारंटीन लैटिन मूल का शब्द है। इसका मूल अर्थ चालीस दिन का समय है। इसका मतलब संगरोध, संगरोधन, किनारे पर आने-जाने से रोकना और अस्पताल का अलग कमरा भी है। दरअसल, पुराने समय में जिन जहाजों में किसी यात्री के रोगी होने या जहाज पर लदे माल में रोग प्रसारक कीटाणु होने का संदेह होता तो उस जहाज को बंदरगाह से दूर चालीस दिन ठहरना पड़ता था। ग्रेट ब्रिटेन में प्लेग को रोकने के प्रयास के रूप में इस व्यवस्था की शुरुआत हुई थी।

घर पर कैसे कर सकते हैं अपने आप को क्वारंटाइन?

  • होम क्वारंटाइन के लिए एक हवादार कमरा हो, जिसमें टॉयलेट भी हो।
  • अगर उस कमरे में अन्य परिजन हो, तो दोनों में एक मीटर की दूरी हो।
  • दोनों शख्स घर के अन्य बुजुर्गों, गर्भवतियों और बच्चों से दूर रहें।
  • वायरस संदिग्ध मरीज किसी भी समारोह, शादी, पार्टी में 14 दिन या जब तक स्वस्थ न हो जाएं तब तक हिस्सा न लें।
  • साबुन से हाथ धोएं और अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।
  • घर में खुद से पानी, बर्तन, तौलिए और अन्य किसी चीज को न छुएं?
  • सर्जिकल मास्क लगाकर रहें। हर 6-8 घंटे में मास्क बदलें। इनका निस्तारण सही से करें।

क्या घर पर अपने को अलग कर वायरस को फैलने से रोका जा सकता है?

अभी तक के मामलों को देखते हुए एक्सपर्ट्स का मानना है कि होम क्वारंटाइन वायरस को फैलने से रोकने में काफी अहम साबित हुआ है। अगर आप लोगों को जरा सा भी शक हो तो घर पर 14 दिन के लिए आप लोग होम क्वारंटाइन अपना सकते हैं। अगर ये दिन ठीक निकल जाते हैं तो आप दोबारा से अपनी नॉर्मल लाइफ जी सकते हैं। आईसीएमआर के डॉक्टर्स का भी कहना है कि ऐसा करने से संदिग्ध मरीज वायरस को फैलने से बचा सकता है।

किसको अपने आप को ‘अलग’ कर लेना चाहिए?

हरेक शख्स जो मरीज के कॉन्टेक्ट में आया हो या फिर जिसे लक्षण दिखने पर शक हो रहा हो वे घर पर अपने आप को अलग कर सकते हैं। अभी तक देखा गया है कि वायरस के लक्षण सामने आने में 14 का वक्त लग रहा है, ऐसे में अगर आप लापरवाही करेंगे तो इससे सैकड़ों लोग बीमार हो सकते हैं।

होम क्वारंटाइन व्यक्ति के परिजनों के लिए गाइडलाइंस
  • घर का कोई एक सदस्य ही ऐसे व्यक्ति की देखभाल करे।
  • ऐसे व्यक्ति की त्वचा के सीधे संपर्क में आने से बचें।
  • घर को साफ करने के लिए दस्ताने पहनें। उन्हें उतारने के बाद हाथों को अच्छे से धोएं।
  • घर में किसी बाहरी व्यक्ति को न आने दें।
  • होम क्वॉरंटाइन व्यक्ति में लक्षण नजर आए तो 14 दिनों तक सभी नजदीकी संपर्क बंद कर दें। ऐसा तब तक करें जब तक रिपोर्ट निगेटिव न आ जाए।
  • होम क्वॉरंटाइन व्यक्ति के कमरे के फर्श और हर चीज को एक फीसदी सोडियम हाइपोक्लोराइट सोल्यूशन से साफ करें।
  • इसके अलावा टॉयलेट को भी रोज रेगुलर हाउसहोल्ड ब्लीच से साफ करें।
Facebook Comments