CoronaVirus : भारत में पहला केस, 4.5 साल की मासूम बनी मरीज़

National
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जोराहट। कोरोना का कहर हर उम्र और तबके को अपनी चपेट में ले रहा है। इसके सबसे ज्यादा शिकार छोटे बच्चे और वृद्ध लोग हो रहे हैं।

भारत में अभी तक ज्यादातर मामले युवा और वृद्धों के सामने आ रहे हैं, लेकिन असम के जोराहट में एक मासूम के कोरोना वायरस से पीड़ित होने का मामले का पता चला है। COVID-19 से ग्रस्त इस बच्ची की उम्र सिर्फ साढे़ चार साल बताई जा रही है। मासूम को COVID-19 होने की जानकारी शनिवार को पता चली। असम में कोरोना का यह पहला मामला है। साथ ही यह देश में सबसे कम उम्र की कोरोना मरीज है।

झारखंड से असम आई है बच्ची

सूत्रों के अनुसार बच्ची झारखंड से अपने परिवार के साथ 19 मार्च को असम आई थी। उसकी तबीयत खराब होने पर असम में जोराहट मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल (JMCH) में जांच करवाई गई तो उसके कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला। इससे पहले असम में कोरोना इंफेक्शन की कोई भी रिपोर्ट नहीं पाई गई थी। यह कोरोना का राज्य में पहला मामला है।

जोराहट के उपायुक्त ने जांच की प्रारंभिक रिपोर्ट में बालिका के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टी की है। उन्होंने कहा कि आगे की जांच के लिए सेम्पल ICMR लेबोरेटरी में भेजे गए हैं और आगे की जांच के नतीजे रविवार दोपहर तक आने की संभावना है। कोरोना का पहला मामला आने के बाद से असम में खास एहतियात बरती जा रही है और कोरोना पीड़ित के इलाज की खास व्यवस्था की गई है। उसको आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है।

एक 4 से 5 साल की बच्ची के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी सामने आई है। यह टेस्ट असम के जोराहट मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल (JMCH) की लैब में किया गया था। हमने आगे की जांच के लिए नमूने ICMR लेबोरेटरी लाहोवल में भेज दिए हैं। प्रारंभक जांच के नतीजों के कल दोपहर तक आने की संभावना है। – रोशनी अपरांजी, उपायुक्त, जोराहट

Facebook Comments