राष्ट्रीय

अयोध्या पर उमा को मंजूर नहीं योगी की सलाह, केंद्र पर भी खड़े किए सवाल

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 5:55 AM GMT
अयोध्या पर उमा को मंजूर नहीं योगी की सलाह, केंद्र पर भी खड़े किए सवाल
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat
राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर भारतीय राजनीति के केंद्र में आ गया है. पहले वेदप्रकाश वेदांती, फिर योगी आदित्यनाथ और अब केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इसको लेकर बड़ा बयान दिया है. अयोध्या में उमा भारती ने कहा कि वह योगी की तरह धैर्य धारण नहीं कर सकती हैं, चाहती हैं कि आज ही राम मंदिर का निर्माण हो. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अब केंद्र और राज्य में हमारी बहुमत की सरकार है, इसलिए मंदिर निर्माण में देरी नहीं होनी चाहिए. मंगलवार को उमा ने यहां कहा कि सरकार तो आती-जाती रहती है, लेकिन राम मंदिर का निर्माण होना भव्य बात है. जो इसके निर्माण के क्षण को गंवा देगा, वह भारत के इतिहास में अपना गौरव गंवा देगा. लेकिन अगर मंदिर निर्माण हुआ तो ये राष्ट्रीय धरोहर के लिए बड़ी बात होगी. गौरतलब है कि सोमवार को अयोध्या में एक कार्यक्रम के दौरान साधु-संतों ने सीएम योगी के सामने साफ कहा था कि अब देरी किए बिना मंदिर का निर्माण शुरू होना चाहिए, जिस तरह मस्जिद गिराई गई थी उसी तरह एक रात में मंदिर भी बनाया जा सकता है. अयोध्या आंदोलन के बारे में उमा भारती ने कहा कि हमने अयोध्या में बहुत बड़े युद्ध को देखा है क्योंकि यह विचारधारा का युद्ध था, एक तरह से राष्ट्रवादी चिंतकों की छद्म धर्मनिरपेक्ष को चुनौती थी. उन्होंने कहा कि अब देश और प्रदेश में हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार है इसलिए सभी बाधाएं दूर होनी चाहिए. उमा बोलीं कि राम मंदिर निर्माण के तीन रास्ते हैं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला, आपसी बातचीत और संविधान में परिवर्तन. लेकिन इन तीनों में सबसे महत्वपूर्ण है राष्ट्रीय संकल्प. उससे ही मंदिर का निर्माण हो सकता है.
'हम पर नहीं सीबीआई ने किया था राष्ट्रभक्तों केस'
उमा ने इसके अलावा अपने ऊपर चल रहे केस पर भी बात की. राम जन्मभूमि को लेकर मुकदमा चल रहा है जिसमें मुझे भी अपराधी माना गया है, जो फैसला होगा उसे स्वीकार किया जाएगा. लेकिन सीबीआई ने हमें नहीं राष्ट्रभक्तों को अपराधी माना था. उन्होंने कहा कि 2019 में मेरी जो भूमिका होगी, वह पार्टी तय करेगी. मेरे इन बयानों को चुनाव से ना जोड़ा जाए. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी ने सत्ता को बचाए नहीं रखा, राम भक्ति का मुद्दा राष्ट्रभक्ति से जुड़ा है. हमारे लिए चुनाव बड़ी चीज नहीं है, लेकिन मंदिर का निर्माण होना जरूरी है
योगी ने कहा था - संदेह ना करें साधु-संत
आपको बता दें कि सोमवार को संतों के सामने यूपी सीएम योगी ने कहा था कि राम मंदिर का मामला समाधान की तरफ जा रहा है. अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा. समाधान की तरफ इसका रास्ता जा रहा है. योगी ने सवाल किया कि संतों को मंदिर निर्माण को लेकर संदेह क्यों हो रहा है? उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण पूरे भारत की भावना है.
Next Story
Share it