मध्यप्रदेश

नसबंदी के लिए महिलाओं को बेहोश कर छोड़ा, मामले ने पकड़ा तूल

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:38 AM GMT
नसबंदी के लिए महिलाओं को बेहोश कर छोड़ा, मामले ने पकड़ा तूल
x
नसबंदी के लिए महिलाओं को बेहोश कर छोड़ा, मामले ने पकड़ा तूल सतना। गत दिवस नसबंदी के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य में पहुंची महिलाओं को बेहोश

नसबंदी के लिए महिलाओं को बेहोश कर छोड़ा, मामले ने पकड़ा तूल

सतना। गत दिवस नसबंदी के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य में पहुंची महिलाओं को बेहोश कर छोड़ देने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मामला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर बघेलान का है। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से नाराज कलेक्टर ने सीएमएचओ एके अवधिया को लापरवाह चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा करते हुए रिपोर्ट मांगी है।

कलेक्टर के तेवर देख सीएमएचओ ने एलटीटी सर्जन एमएम पाण्डेय को नोटिस जारी कर 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा है। साथ ही एसडीएम रामपुर की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित कर जांच का आदेश जारी कर तत्काल रिपोर्ट देने की बात कही है।

साइबर सेल के ऑपरेशन मुस्कान ने 55 लोगों के चेहरों पर लौटाई खुशी

मामले में पर एक नजर

ज्ञात हो कि रामपुर बाघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी के लिये गई 21 में से 11 महिलाओं को बहोशी का इंजेक्शन देने के बाद आपरेशन नहीं किया गया। इन महिलाओं की स्थिति यह हो गई कि वे अस्पताल में यहां-वहां दीवार के सहारे व फर्स में पड़ी रहीं और नसबंदी का आॅपरेशन कराने इंतजार करती हैं लेकिन उनका आपरेशन नहीं किया गया। अब सवाल यह है कि यदि आपरेशन नहीं करना था तो फिर बेहोशी का इंजेक्शन क्यों दिया गया? जो गंभीर लापरवाही को दर्शाता है।

नसबंदी के लिए महिलाओं को बेहोश कर छोड़ा, मामले ने पकड़ा तूल

डाक्टर ने आपरेशन करने से हाथ खड़े किये

रामपुर बाघेलान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंरी शिविर लगाया गया था जहां 21 महिलाओं को परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत नसबंदी के लिए बुलाया गया था लेकिन 21 में केवल 10 महिलाओं का आपरेशन किया गया। इसके बाद डाक्टरों ने अपने हाथ खड़े कर दिये। बताया गया है कि नसबंदी आपरेशन के लिए सरदार वल्लभ भाई पटेल जिला चिकित्सालय सतना से सर्जन डा. एमएम पाण्डेय को भेजा गया था लेकिन 10 आपरेशन के बाद वह चले गये। जबकि महिलाओं को बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर फर्स पर छोड़ दिया गया था।

नोटिस जारी किया

मामला बढ़ने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एके अवधिया ने कलेक्टर के निर्देश पर एलटीटी सर्जन एमएम पाण्डेय को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। उनसे 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा गया है। वहीं एसडीएम रामपुर की अध्यक्षता में टीम गठित कर जांच का निर्देश दिया गया है।

रीवा: दो बाइकों की भिडंत में मृतकों की संख्या 6 पहुंची, पढ़िए पूरी खबर

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

Next Story
Share it