मध्यप्रदेश: टीआई से मौत के 8 घंटे पहले बेटी ने कहा था, पापा आप कोरोना को हरा देंगे

मध्यप्रदेश: टीआई से मौत के 8 घंटे पहले बेटी ने कहा था, पापा आप कोरोना को हरा देंगे

इंदौर उज्जैन मध्यप्रदेश

उज्जैन‘पापा आप कोरोना को हरा देंगे’, ये शब्द उस बेटी के थें जिसने अपने Corona Warrior टीआई पिता को खो  दिया. इसके 8 घंटे बाद बेटी को जब पता चला की उसके पिता अब नहीं रहें तो उसका मानो सारा संसार ही टूट गया. मध्यप्रदेश के उज्जैन के नीलगंगा टीआई यशवंत पाल की मंगलवार को कोरोना से मौत हो गई है। मौत के बाद इंदौर के रामबाग स्थित मुक्तिधाम में उनका अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार से पहले मुक्तिधाम में ही उनकी तस्वीर रखी गई थी, जिस पर पुष्प अर्पित कर पुलिस अधिकारियों और परिवारजनों से श्रद्धांजलि अर्पित की। जब बेटी अंतिम दर्शन के लिए पहुंची तो वह पिता की तस्वीर से लिपट गई और दहाड़ मारकर रोने लगी।

14 दोस्त हैदराबाद से पैदल जा रहें थें यूपी, 700 किमी तक किसी ने नहीं रोका, पर रीवा पुलिस ने पकड़कर…

बेटी की चीत्कार सुन वहां मौजूद लोगों के आखों में आंसू छलक आए। वह यूं पिता की तस्वीर से लिपटी और दहाड़ मारकर रोती रही। मौत से चंद घंटे पहले ही तो पापा वीडियो कॉल के जरिए बेटी ने बात की थी। उन्हें हौसला दिया था, आप कोरोना को हरा देंगे। लेकिन 8 घंटे बाद ही यह मनहूस खबर आई कि पिता नहीं रहे।

वीडियो कॉल से हुई थी बेटी की बात

नीलगंगा थाना के प्रभारी रहे यशवंत पाल 12 दिनों से इंदौर से अरबिंदो अस्पताल में भर्ती थे। मंगलवार सुबह 5:10 मिनट पर उनका निधन हो गया। डॉक्टरों ने अस्पताल में भर्ती टीआई यशवंत पाल की सोमवार रात 9:12 मिनट पत्नी और बेटी से वीडियो कॉल कर बात कराई थी। इस दौरान उन्होंने पत्नी और बेटी को हाथ से इशारा कर कहा था कि मैं बढ़िया हूं।

पापा आप कोरोना को हरा देंगे

अस्पताल में भर्ती पिता से बेटी ने पूछी थी कि पापा आप कैसे हैं, उन्होंने हाथ से ही इशारा किया ठीक हूं। उसके बाद बेटी ने उनका हौसला बढ़ाते हुए कहा कि आप तो मजबूत हैं, आप तो हमलोगों का हौसला बढ़ाते हैं, कोरोना को आप हरा देंगे पापा। बेटी पर बोलती है कि पापा आप जल्दी घर आएंगे न। हमलोग घर पर आपका इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने भी हां में हाथ से इशारा किया।

पत्नी है तहसीलदार

वहीं, टीआई पाल की पत्नी मीना पाल धार में नजूल तहसीलदार हैं। हालांकि वह डेढ़-दो महीने से छुट्टी पर थी। वहीं, दो बेटियां फाल्गुनी और ईशा पढ़ाई कर रही हैं। परिवार के लोगों के भी सैंपल लिए गए हैं, जिनकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।

बेटी को सब इंस्पेक्टर बनाएंगे शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी टीआई के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि सरकार की ओर से उनके परिवार को 50 लाख रुपये की सम्मान निधि, बड़ी बेटी फाल्गुनी पाल को सब इंस्पेक्टर की नौकरी, परिवार को विशेष पेंशन दी जाएगी। दिवंगत यशवंत पाल को मरणोपरांत कर्मवीर पदक दिया जाएगा।

Facebook Comments