सिर्फ मलाई छानी गई, 16 वर्षो में चोरहटा से रतहरा का विकास पूरा नहीं हुआ : REWA NEWS

रीवा: सुरक्षा के इंतजाम शून्य, फ्लाइओवर बना जानलेवा, पढ़िए पूरी खबर

रीवा

रीवा: सुरक्षा के इंतजाम शून्य, फ्लाइओवर बना जानलेवा, पढ़िए पूरी खबर

रीवा (विपिन तिवारी ) : रतहरा से नया बस स्टैंड तक फ्लाइओवर निर्माण कार्य किया जा रहा है। हफ्ते भर पहले निर्माणाधीन फ्लाइओवर वाहन की टक्कर लगने मात्र से लोहे की रॉड सहित एक हिस्सा ढह गया था। प्राथमिक पड़ताल के बाद जानकार हादसे के पीछे सही तरीके से गुणवत्ता, समान की क्वलिटी में कमजोर होने की आशंका जता रहें हैं।इतना ही नही विशषज्ञों ने प्रयुक्त मटीरियल की गुणवत्ता पर सवालिया निशान लगा रहें हैं।उनका कहना है केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा गठित हाई लेवल कमेटी से जांच कराई जाए तो इस हादसे के कारणों का खुलासा हो सकता है।

रीवा: लॉक डाउन ने तोड़ी ट्रांसपोर्टर्स की कमर, आज भी थमे हैं ट्रकों के पहिये

पुल निर्माण से जुड़े विशेषज्ञों का कहना है कि जिस तरह फ्लाई ओवर का एक हिस्सा ढहा है, वह सीधे तौर पर प्रयुक्त मटीरियल की गुणवत्ता पर सवाल उठा रहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक ऐसा तभी होता है जब मटीरियल मानक के मुताबिक न हो।

सुरक्षा के नही हैं कोई इंतज़ाम

शहर में बन रहे फ्लाइओवर में सुरक्षा के कोई इंतज़ाम नही किये गए हैं और न ही बेरिकेड्स लगाए गए हैं औऱ न ही यातायात के चिन्ह लगाया गया है। काम कर रहे कर्मचारी वगैर हेलमेट लगाए पोल पर चढ़ काम कर रहें हैं। उनके पास हाथों में पहनने वाला दस्ताना तक नही है।बिना दस्ताने के बड़ी बड़ी लोहे की पाइप बिल्डिंग कर रहें हैं। साथ ही तय मानक के आधार पर ब्रेकर भी नही बने हैं। जिसकी वज़ह से सड़क दुर्घटना आये दिन होती है।

इनका कहना है

शिवम द्विवेदी कहते हैं फ्लाइओवर निर्माण होना चाहिए इससे जिले का विकाश होगा। लेक़िन फ्लाइओवर निर्माण करा रही शासन प्रशासन को यहाँ रह रही जनता का भी ध्यान रखना चाहिए। फ्लाइओवर निर्माण कर रही कम्पनी ने अभी तक ब्रेकर नही बनाये हैं। जिसकी वज़ह से सड़क से निकलने वाले लोग हादसे का शिकार हो रहें हैं परेशानी का सबब बना हुआ है।

रीवा जिले में अवैध शराब के विरुद्ध आबकारी विभाग की वृत्त चाकघाट में कार्यवाही

बिल्डर विद्याभूषण ओझा कहते हैं फ्लाइओवर तय मानक पर नही बन रहा है। इसकी गुणवत्ता सही नही है। केंद्रीय परिवहन विभाग द्वारा कमेटी गठित कर जांच की जाए । सड़कें टूटी हुई हैं जिससे स्थानीय लोगों को परेशानी हो रही है। लोग आने जानें में परेशान हो रहें हैं।

रास्ते से गुजर रहे राधेश्याम कोल कहते हैं। मुझें यहां रहते सालों हो गए पहले कभी ऐसी परेशानी नही हुई। ओवरब्रिज सालों से बन रहा है। अभी तक नही बन पाया। जिसकी वज़ह से आये दिन वाहनो का जाम लगा रहता है। निकलने में परेशानी आ रही है।

मध्यप्रदेश: CM SHIVRAJ ने पीड़ित परिवारों को 4-4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता की घोषणा की

[signoff]