माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता

REWA : पत्रकारिता विश्वविद्यालय के स्टाफ ने एक दिन का वेतन किया दान

रीवा

रीवा परिसर के अध्यापकों एवं विद्यार्थियों ने व्यक्तिगत तौर पर भी पीएम केयर्स में दी राशि

रीवा। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों व कर्मचारियों ने देश को कोरोना संकट से उबरने में मदद के लिए अपने एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान किया है। इस संबंध में कुलपति दीपक तिवारी के आह्वाहन का सभी शिक्षकों व कर्मचारियों ने प्रसन्नतापूर्व स्वागत किया और अपना एक दिन का वेतन राष्ट्रहित में देना सहर्ष स्वीकार कर लिया। इतना ही नहीं विवि के रीवा परिसर के कुछ अध्यापक व विदयार्थियों ने व्यक्तिगत तौर पर भी पीएम केयर्स में सहायता राशि दान की है।

रीवा परिसर के कम्प्यूटर विज्ञान विभाग के सहायक प्रोफेसर रवि साहू ने 5000 रुपये की सहायता राशि पीएम केयर्स में दिया, वहीं पत्रकारिता विभाग के अतिथि व्याख्याता डॉ. आदित्य कुमार मिश्रा ने भी 500 रुपये की राशि पीएम केयर्स में दी। कम्प्यूटर विज्ञान विभाग के अतिथि व्याख्याता प्रदीप शुक्ल ने भी पीएम केयर्स में सहायता राशि दान की। पत्रकारिता विभाग के द्वितीय सेमेस्टर के अजय कुमार एवं राजकुमार पाण्डेय आदि ने पीएम केयर्स में सहायता राशि दान की।

ग्रीन जोन में REWA, SIDHI सहित ये शहर, 20 अप्रैल के बाद मिलेगी ये छूट…

इस अवसर पर रीवा परिसर के प्रलेखन अधिकारी डॉ. बृजेंद्र शुक्ल ने कोरोना त्रासदी को राष्ट्र के लिए एक बड़ा संकट बताया। आगे कहा कि इस संकट से निपटने के लिए कुलपति के निर्देश पर सभी शिक्षकों व कर्मचारियों ने अपना एक दिन का वेतन दान किया है। यह बहुत ही सराहनीय कदम है। डॉ.शुक्ल ने व्यक्तिगत तौर पर भी पीएम केयर्स में सहायता राशि देने वाले सभी शिक्षकों एवं विद्यार्थियों की सराहना की और अन्य शिक्षकों, विद्यार्थियों, अधिकारियों व कर्मचारियों से भी सहायता राशि देने का आह्वाहन किया।

सीधी: DSP बेटी के थाने में SI हैं पिता, दोनों एक साथ लड़ रहें कोरोना के खिलाफ जंग

सहायक प्रोफेसर रवि साहू ने कहा कि कोरोना से भारत ही नहीं पूरी दुनिया त्रस्त है। भारत में भी बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां छूट गयी है। मजदूरों और छोटे-मोटे काम कर जीवन यापन करने वालों पर संकट गहरा गया है। ऐसे में समाज के जिम्मेदार नागरिकों को सावधानी बरतने के साथ-साथ यथासंभव आर्थिक सहायता देने के लिए भी आगे आना पड़ेगा। मैंने भी इस दिशा में एक कदम बढ़ाया है।

वहीं पत्रकारिता विभाग के डॉ. आदित्य कुमार मिश्रा ने कहा कि यह संकट इतना बड़ा है कि इसे एकजुट होकर ही खत्म किया जा सकता है। केंद्र एवं राज्य सरकारें जरुरतमंद नागरिकों के हित में बड़ी राशि खर्च कर रही हैं। ऐसे में हम सभी का फर्ज बनता है कि हम भी अपने सामर्थ्य अनुसार पीएम केयर्स या मुख्यमंत्री राहत कोष में सहायता राशि दान करें। आगे कहा कि भारत एक विशाल देश है। हम सभी का दायित्व है कि संकोच छोड़कर जितना संभव हो पीएम केयर्स में सहयोग करें। छोटी-छोटी राशि देकर भी एक बड़ी राशि पीएम केयर्स में पहुंचायी जा सकती है।

जिससे सरकार को जरुरतमंदों तक मदद पहुंचाने में सुविधा होगी साथ ही ऐसी ख़बरों से अन्य नागरिकों को भी प्रेरणा मिलेगी। इस अवसर पर विनोद कुमार दुबे, नलिनी गुप्ता, हरिओम यादव आदि शिक्षकों व विद्यार्थियों ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

रीवा से शशांक द्विवेदी की रिपोर्ट 

Facebook Comments