रीवा: तीन महिलाओं ने की आत्महत्या, जानिये क्या थी वजह

रीवा: तीन महिलाओं ने की आत्महत्या, जानिये क्या थी वजह

रीवा

पुलिस मौके पर पहुंची, घटनास्थल का निरीक्षण कर शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा

रीवा. जिन्दगी से निराशा हो कर जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में तीन महिलाओं ने आत्महत्या कर ली। हालांकि इस तरह आत्मघाती कदम उठाने का कारण पता नहीं चल पाया है, लेकिन बताया गया है कि पारिवारिक समस्याओं के चलते महिलाओं ने खुदकुशी की है। एक घटना में जहर खिलाने का आरोप लगाने पर आहत महिला ने कीटनाशक का सेवन कर लिया। उसकी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। इसी तरह दो अन्य घटनाओं में भी महिलाओं ने खुदकुशी कर ली।

जहर खिलाने का लगा आरोप
गुढ़ थाना अन्तर्गत उमरिहा निवासी आरती कुशवाहा पति राजमणि 30 वर्ष ने 26 जून को जहर का सेवन कर लिया था। परिजनों को घटना की जानकारी उस समय हुई जब महिला की हालत खराब हो गई। परिजनों ने तत्काल महिला को उपचार के लिए संजय गांधी अस्पताल पहुंचा जहां रविवार की रात महिला की मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर घटना की जांच शुरू कर दी है। उक्त गांव में एक लड़के की जहर सेवन से मौत हो गई थी। लड़के के परिजन महिला पर जहर खिलाने का आरोप लगा रहे थे जिससे वह काफी दु:खी थी और इसी बात पर महिला ने कीटनाशक निगलकर जान दे दी।

खाना खाने के बाद गई सोने, सुबह मिला शव
वहीं एक अन्य घटना में महिला ने रविवार की रात घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है। सिटी कोतवाली थाना अन्तर्गत निपनिया निवासी रोशनी बुनकर पति रविकुमार 25 वर्ष ने रविवार की रात फांसी लगा ली। रात में महिला परिजनों के साथ खाना खाकर कमरे में सोने चली गई। देर रात महिला ने कमरे के अंदर फांसी लगा ली। देर रात जब परिजन उठे तो तब उन्हें घटना की जानकारी हुई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। घटनास्थल का निरीक्षण कर शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया गया। महिला ने किन कारणों से यह आत्मघाती कदम उठाया है इसका अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है।

फांसी के फंदे में छटपटा रही थी महिला
आत्महत्या की एक अन्य घटना में रविवार की रात महिला फांसी पर झूल गई। उसकी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। आशा साहू पति नारायण 45 साल निवासी लौर ने रात में कमरे के अंदर फांसी लगा ली थी। जब परिजन कमरे में गए तो महिला फांसी के फंदे में छटपटा रही थी।परिजनों ने तत्काल उसे नीचे उतारा और उपचार के लिए संजय गांधी अस्पताल लाया गया जहां महिला की मौत हो गई। महिला की दिमागी हालत काफी समय से खराब थी। पति दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था।