vindhyacoronabulletin/peethampur .jpg

MP : प्रदेश के पांच जिलों को पीथमपुर के आक्सीजन प्लांट से मिलेगी प्राणवायु

RewaRiyasat.Com
Saroj Kumar Tiwari
30 Apr 2021

भोपाल। कोरोना महामारी ने पूरे देश में लोगों के सामने जीवन संकट पैदा कर दिया है। संक्रमण की चपेट आने वाले व्यक्ति को सबसे आक्सीजन की जरूरत पड़ती है, इसके अभाव में प्राण संकट में होते हैं। काफी दिनों मची अफरा तफरी के बीच औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर में करीब साढ़े तीन साल से बंद पड़े मित्तल स्टील के आक्सीजन प्लांट को शुरू किया गया है जिससे काफी राहत मिलेगी। इस प्लांट से देवास, खरगोन, बड़वानी, धार सहित इंदौर जिले को प्राणवायु उपलब्ध हो सकेगी।

इंदौर को मिलेंगे एक हजार सिलेण्डर

आपको बता दें कि प्रदेश के इंदौर जिले में संक्रमण का सबसे ज्यादा प्रभाव है जहां प्राणवायु की बहुत ज्यादा आवश्यता महसूस की जा रही है। ऐसी स्थिति में इस प्लांट से इंदौर को भी हर दिन करीब 1 हजार सिलिंडर मिलेंगे। इसकी आपूर्ति शुरू भी हो चुकी है। इस प्लांट के शुरू हो जाने से काफी राहत महसूस हुई है। प्लांट की देखरेख और प्रबंधन धार जिला प्रशासन और एकेवीएन मिलकर देख रहे हैं।

फिलहाल प्रतिदिन 3 हजार सिलेण्डर भरे जा रहे

बताया गया है कि प्लांट की क्षमता हर दिन 3600 से लेकर 4 हजार सिलिंडर तैयार करने की है, लेकिन अभी पूरी क्षमता के साथ इसे शुरू होने में थोड़ा समय लगेगा। फिलहाल यहां करीब 3 हजार सिलिंडर भरे जा रहे हैं। दरअसल शुरुआती दौर में कुछ तकनीकी समस्याएं आ रही हैं, उन्हें भी साथ साथ दूर किया जा रहा है। प्लांट पर काम करने वाले कुछ कर्मचारी नए हैं। जैसे.जैसे पूरे सिस्टम को समझकर निपुण होते जाएंगे, प्लांट पूरी क्षमता से काम करने लगेगा।

इंदौर का बोझ कम हुआ

आसपास के छोटे जिले आक्सीजन के मामले में काफी हद तक इंदौर पर निर्भर हैं। इंदौर के सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र और बाणगंगा क्षेत्र के आक्सीजन प्लांटों से भी बाहरी जिलों के अस्पतालों को आक्सीजन भेजी जाती है। अब पीथमपुर में मित्तल सहित अन्य दो प्लांट हो जाने से इंदौर का बोझ कुछ कम होगा। इंदौर में बीआरजे कार्पोरेशन, शिवम, आदर्श और इंडस्ट्रियल एयर प्रोडक्ट्स के प्लांटों से इंदौर सहित अन्य जिलों को आक्सीजन भेजी जा रही है। यहां से उज्जैन, झाबुआ, मंदसौर, बड़वाह, सनावद सहित अन्य जगह आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER