मध्यप्रदेश

रीवा के खनिज अधिकारी ने जबलपुर में पदस्थ अपने ही विभाग के अफसर को दी धमकी, कहा - 'नौकरी पर आंच आई तो जहां मिलेगा, वहीं गोली मार दूंगा'

Aaryan Puneet Dwivedi
17 Aug 2021 3:49 AM GMT
रीवा के खनिज अधिकारी ने जबलपुर में पदस्थ अपने ही विभाग के अफसर को दी धमकी, कहा - नौकरी पर आंच आई तो जहां मिलेगा, वहीं गोली मार दूंगा
x

नौकरी पर आंच आई तो जहां मिलेगा, वहीं गोली मार दूंगा

संचालनालय क्षेत्रीय कार्यालय भौमिकी एवं खनिज कर्म जबलपुर के अधिकारी संतोष पटले को जान से मारने की धमकी मिली है.

रीवा / जबलपुर। संचालनालय क्षेत्रीय कार्यालय भौमिकी एवं खनिज कर्म जबलपुर के अधिकारी संतोष पटले ने गोरखपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. पटले के मुताबिक़ रीवा में पदस्थ समकक्ष खनिज अधिकारी संजीव मोहन पांडे ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है. पटले ने इस सम्बन्ध में उच्च अधिकारियों को भी सूचित किया है.

विवाद सतना में मुरम खदानों की जांच से जुड़ा है. भोपाल मुख्यालय के आदेश पर हुई जांच रिपोर्ट को लेकर रीवा के अधिकारी ने फोन पर धमकाते हुए कहा कि उसकी नौकरी पर आंच आई, तो वे उसकी जान ले लेंगे.

लेट्राइट को मुरुम खदान बताकर आवंटित कर दिया

बताया जा रहा है कि सतना जिले के मैहर की लेट्राइट की 7 खदानों के पास 4 मुरम की खदानों का आवंटन किया गया था. लेट्राइट की खदान को फ़र्ज़ी तरीके से मुरुम की खदान बताकर आवंटित किया गया था. इसी मामले की शिकायत जून में विभागीय मंत्री से की गई.

शिकायत मिलने के बाद भोपाल मुख्यालय ने इसके लिए एक जांच टीम गठित की थी. जांच टीम में जबलपुर के क्षेत्रीय प्रमुख संतोष पटले, उनके ही कार्यालय के दो अधिकारी और रीवा व सतना के एक-एक द्वितीय श्रेणी अधिकारी को शामिल किया गया. टीम ने 7-9 जून के बीच इन खदानों की जांच की थी.

जांच रिपोर्ट मुख्यालय भेजी

संतोष पटले के मुताबिक खदानों की मुरम की लैब परीक्षण रिपोर्ट और जांच रिपोर्ट सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर 10 अगस्त को भोपाल मुख्यालय भेज दी गई. लैब परीक्षण में भी लेट्राइट निकला है. आगे की कार्रवाई से संबंधित निर्णय मुख्यालय को करना है. इधर, रीवा में पदस्थ क्षेत्रीय प्रमुख संजीव पांडे इस बात पर नाराज हो गए कि जांच रिपोर्ट बिना उन्हें दिखाए भोपाल भेज दी गई.

इंटरनेट कॉल पर दी धमकी

जबलपुर तिलवारा स्थित कौशल्यामाई होम में रहने वाले संतोष पटले ने शिकायत में बताया है कि वे 13 अगस्त को कटंगा स्थित अपने कार्यालय में थे. दोपहर 3.07 बजे उनके मोबाइल पर संजीव मोहन पांडे का कॉल आया. कॉल पर संजीव पांडे ने अपशब्द कहे. साथ ही कहा, 'अगर मेरी नौकरी पर आंच आई तो तुझे जिंदा नहीं छोड़ूंगा. तू मेरे भाई साहब को जानता नहीं है. मैं दो दिन में जबलपुर आ रहा हूं. जहां मिलेगा, वहीं गोली मार दूंगा.'

Next Story
Share it