मध्यप्रदेश

MP के इस शहर में बन्दूक के गोली की रफ्तार से अमरूद के आकार के गिरे ओले, नजारा देख दंग रह गये लोग

MP के इस शहर में बन्दूक के गोली की रफ्तार से अमरूद के आकार के गिरे ओले, नजारा देख दंग रह गये लोग
x
गुना (Guna News) :  गर्मी और उमस के बीच रविवार की सुबह MP का मौसम जहां बदला हुआ हैं वही गुना से 15 किलोमीटर दूर रिछेरा गांव में ओले की बारिश हुई है। 

गुना (Guna News) : गर्मी और उमस के बीच रविवार की सुबह MP का मौसम जहां बदला हुआ हैं वही गुना से 15 किलोमीटर दूर रिछेरा गांव में ओले की बारिश हुई है। गांव में इस तरह ओले गिरे कि वहां रहने वाले लोग सहम गए। खेत में भरे पानी और टीनशेड पर गिर रहे अमरूद के साइज के ओले इस तरह आवाज कर रहे थे, जैसे आसमान से कोई ओलों की फायरिंग कर रहा हो। ओले की यह मार 4 से 5 मिनट तक जारी रही। बताया जा रहा है कि रविवार सुबह से बारिश के साथ ही जिले के कई गांवों में बड़े-बड़े ओले गिरे हैं।

पड़ोसी राज्य से पहुचे बादल

मौसम वैज्ञानिकों की माने तो पड़ोसी राज्य बिहार, उत्तराखंड की और से बादल एमपी में पहुचे हैं। जिसके चलते बारिश के साथ ही ओलावृष्टि हुई है। विशषेज्ञों का कहना है कि बादल काफी नीचे आ जाने पर ओलावृष्टि होती है। गुना, अशोकनगर, शिवपुरी में बादल काफी नीचे आ गए हैं। जिसके चलते अमरूद के आकार के आसमानी पत्थर गिरे है।

मौसम की बेरूखी से बोवनी प्रभावित

एमपी में मानसून भटका गया है। इसका असर बोवनी पर पड़ रहा है। सोयाबीन, मक्का तथा धान रोपाई जंहा अटकी वही सागर एंव रीवा में फसले सूखने लगी है।

क्योकि बारिश का महीना जून और जुलाई है। इस दौरान पर्याप्त बारिश नहीं हो पाई। जुलाई के शुरुआती पखवाड़े में केवल 3 दिन ही बारिश हुई। बारिश न होने के कारण किसानों ने सोयाबीन की बोवाई नहीं की है। वहीं अब समय निकल जाने के कारण सोयाबीन की बोवाई होने की संभावना कम ही है।

Next Story