2021/07/CMVID.jpg

Corona Third Wave : कोरोना की तीसरी लहर को लेकर Chief Minister Shivraj कह रहे कुछ ऐसा जिसे हर किसी को पढ़ना है जरूरी

RewaRiyasat.Com
Shashank Dwivedi
16 Jul 2021

Corona Third Wave : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने कहा है कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर (Possible Third Wave Of Corona) के प्रति सरकार पूरी तरह से सजग और सतर्क है। उन्होंने प्रदेशवासियों से आव्हान किया कि कोरोना के प्रति लापरवाही बिल्कुल न बरतें, कोरोना अभी गया नहीं है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण (corona infection) का प्रभाव काफी कम हो गया है। इसे दृष्टिगत रखते हुए अनेक क्षेत्रों में रियायत दी गई है, लेकिन हमें सावधानी बरतने के साथ कोविड अनुकूल व्यवहार को भी अपनाना होगा।

20 नये पॉजिटिव प्रकरण

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या 253 है। आज 15 जुलाई को 20 नये पॉजिटिव प्रकरण पाए गए हैं तथा पॉजीटिविटी दर 0.02 प्रतिशत है। आज प्रदेश में 36 रोगी स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए और 76 हजार 201 जाँचे की गई है। प्रदेश में 1687 फीवर क्लीनिक एक्टिव है। हेल्पलाईन नम्बर 104 तथा 181 पर 51 हजार 94 रोगियों का टेली कंसल्टेशन किया गया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि तीसरी लहर (Corona Third Wave MP) के पूर्व ही प्रदेश में तेजी से स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के साथ चिकित्सकीय अधोसंरचनाओं का निर्माण किया जा रहा है। विशेष रूप से अस्पतालों में आईसीयू बेडस की संख्या बढ़ाने के साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिये ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये जो कार्य योजना बनाई गई थी उसके तहत अनेक जिलों में ऑक्सीजन प्लांटस शुरू हो चुके हैं। इस कार्य में शासन-प्रशासन के साथ राष्ट्रीय स्तर की कम्पनियों और प्रदेश के समाज सेवियों का बड़ा योगदान रहा है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश को ऑक्सीजन उत्पादन के मामले में आत्म-निर्भर बनाने की जो मुहिम शुरू हुई है, उसे निरंतर जारी रखा जाएगा। हमारी कोशिश यही होगी कि सभी अस्पतालों में मरीजों के उपचार के लिये ऑक्सीजन की उपलब्धता अस्पताल में ही सुनिश्चित हो। आवश्यक उपकरणों की व्यवस्था

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए सभी आवश्यक तैयारियों में विस्तरों, दवाओं, ऑक्सीजन, सीटी स्केन, आईसीयू, पीआईसीयू, चिकित्सक, स्टाफ आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। वर्तमान में मध्यप्रदेश में कोरोना के इलाज के लिए कुल 68 हजार से अधिक विस्तर चिन्हांकित हैं, जिनमें 54 हजार शासकीय तथा 13 हजार से अधिक निजी अस्पतालों में हैं। इनके अंतर्गत 4 हजार विस्तर प्रायवेट मेडिकल कॉलेजेस में चिन्हांकित हैं। आयुष्मान योजना अंतर्गत शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों में कुल 31 हजार 11 विस्तर चिन्हांकित हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि प्रदेश में विशेषज्ञों की समिति द्वारा गहन अध्ययन के पश्चात शिशुओं के उपचार की विस्तृत प्रोटोकॉल गाइड लाइन जारी की गई है। अभिभावक बच्चों के साथ वार्ड में रह सकें, इसके लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER