वीरान पड़ी स्कूलें चोरों के निशाने पर, 15 लाख का सामान पार- Rewa News

वीरान पड़ी स्कूलें चोरों के निशाने पर, 15 लाख का सामान पार- Rewa News

मध्यप्रदेश रीवा

वीरान पड़ी स्कूलें चोरों के निशाने पर, 15 लाख का सामान पार- Rewa News

रीवा। कोरोना के चलते सालों से वीरान पड़ी स्कूलों को चोरों ने निशाना बनाना शुरू कर दिया है। जहां विद्यालय की प्रयोगशाला से चोरों ने तकरीबन 15 लाख रुपये का सामान पार कर दिया है। मिली जानकारी अनुसार जिले के मऊगंज में स्थित उत्कृष्ट विद्यालय को अज्ञात चोरों ने बीती रात्रि अपना निशाना बनाया।

वीरान पड़ी स्कूलें चोरों के निशाने पर, 15 लाख का सामान पार- Rewa News

बताया गया है कि चोरों ने स्कूल की खिड़की तोड़कर अंदर प्रवेश और विद्यालय के प्रयोगशाला से लगभग 15 लाख रुपये का सामान उठा ले गये। इतना ही नहीं चोरों ने लैब को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया है। वहीं स्कूल में लगे बिजली के सामान भी चोरों ने निकाल लिया है।

बताया गया है कि चोरों ने विद्यालय में काफी तोड़फोड़ भी की है जिससे काफी नुकसान पहुंचा है। जानकारी होने पर विद्यालय के शिक्षकों द्वारा घटना की जानकारी थाने में दर्ज कराई गई जहां पुलिस ने मामला दर्ज कर एक संदेही को पकड़कर पूंछताछ की जा रही है।

शिक्षक घर बैठे तनख्वाह लेकर आराम फरमा रहे

जिले में शिक्षण व्यवस्था वैसे भी चैपट थी। शिक्षक पढ़ाने का काम छोड़कर नेतागिरी में लगे रहते हैं। वहीं जबसे कोरोना वायरस के कारण लाॅकडाउन शुरू हुआ तबसे शिक्षकों को पूरी तरह आराम फरमाने लगे। न कोई उपस्थिति, न कोई काम, तनख्वाह एकाउंट में आ ही जाना है फिर क्या करना है। स्कूल रहे चाहे न रहे। इसी तरह के रवैये के कारण छात्रों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है और सरकारी विद्यालयों की व्यवस्था चैपट हो रही है। स्कूलें चोरों के हवाले हो गई हैं। शासन-प्रशासन भी दिखावटी खानापूर्ति में जुटा रहता है।

जबलपुरः मां-बेटे की निर्मम हत्या का राज जानकर दंग रह गई पुलिस, अंधी हत्या का हुआ पर्दाफाश ..

एमपी बोर्ड परीक्षा का बदल गया पैटर्न, अगर परीक्षा की कर रहे हैं तैयारी तो पढें पूरी खबर

रीवा कलेक्टर ने दो दर्जन से ज्यादा खूंखार अपराधियों को किया जिला बदर, नाम पढ़कर रह जाएंगे दंग….

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *