रीवा: मढ़ी स्कूल की भूमि पर पानी की टंकी का अवैध निर्माण, आक्रोश व्याप्त

रीवा: मढ़ी स्कूल की भूमि पर पानी की टंकी का अवैध निर्माण, आक्रोश व्याप्त

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: मढ़ी स्कूल की भूमि पर पानी की टंकी का अवैध निर्माण, आक्रोश व्याप्त

रीवा। जिले के गंगेव विकासखंड अंतर्गत शासकीय हाईस्कूल धवैया द्वारा संचालित पोषित शाला प्राथमिक मढ़ी स्कूल के नाम दर्ज भूमि पर पीएचई द्वारा पानी की टंकी का निर्माण कराया जा रहा है। पिछले एक सप्ताह से शुरू निर्माण कार्य की जानकारी निरीक्षण पर निकले प्राचार्य डॉ रामकृष्ण तिवारी को जब हुई तो उन्होंने बगैर मंजूरी विद्यालय भूमि पर निर्माण रोकने को कहा लेकिन काम नही रुका।

कंस्ट्रक्शन कंपनी के सुपरवाइजर ने बताया कि उन्हें उक्त भूमि पर निर्माण की स्वीकृति कलेक्टर द्वारा दी गई है। मौके पर हल्का पटवारी ने आकर स्थल को चिन्हित किया है लिहाजा प्राचार्य ने वस्तु स्थिति से संकुल प्राचार्य, जिला शिक्षा अधिकारी को अवगत कराते हुए स्कूल भूमि पर निर्माण कार्य रोकने की गुजारिश की है।

मध्यप्रदेश : शादी तय होने के बाद युवती ने बात करने से किया इंकार, तो एसिड फेंक दिया, दो गिरफ्तार

बताया गया है कि जिस वक्त भूमि का चयन हो रहा था उस वक्त उप सरपंच और पंचायत सचिव मौजूद थे लेकिन उनकी मौन सहमति के कारण स्कूल की जमीन पर भारी भरकम पेयजल टंकी का निर्माण शुरू कर दिया गया।

स्कूल के सामने खाली पड़ी है शासकीय भूमि

जानकारी के अनुसार प्राथमिक शाला मढ़ी के सामने ही पर्याप्त शासकीय भूमि खाली पड़ी हुई है वावजूद पटवारी ने स्कूल भूमि पर टंकी तनवा दी जिससे गांव के लोगो मे भारी आक्रोश व्याप्त हो गया है। जिस भूमि पर अवैध निर्माण किया जा रहा है वह राजस्व अभिलेख में खसरा नम्बर 137/764 रकवा एक एकड़ स्कूल के नाम पर दर्ज है।

कलेक्टर को नही है अधिकार…

कलेक्टर को सिर्फ राजस्व विभाग की भूमि आवंटन का अधिकार है लेकिन उन्होंने आनन फानन में स्कूल भूमि को भी आवंटित कर दिया, कलेक्टर की इस चूक का दुष्परिणाम यह निकला कि आवंटित भूमि स्कूल के स्वत्व के बाद भी अतिक्रमित हो गई। जबकि समय-समय पर शासन एवं स्वय कलेक्टर सरकारी स्कूलो से अतिक्रमण हटाने के लिए निर्देश जारी कर रहें। इस निर्माण से अब न बच्चों को खेलने कूदने के लिए पर्याप्त जगह मिल पाएगी न ही शाला भवन का विस्तार हो पायेगा। ऐसी स्थिति में अभी निर्माण कार्य रोक कर टंकी का निर्माण राजस्व की रिक्त भूमि पर कराया जा सकता है।

132 करोड़ में बननी हैं 28 पानी की टंकियां

जानकारी के मुताबिक कदैला समूह जल प्रदाय योजना अंतर्गत गंगेव विकासखंड अंतर्गत कुल 28 पानी की टंकियों का निर्माण मार्च 2021 तक पूरा होना है। 132 करोड़ की लागत से अभी तक मात्र 5 ..6 टंकियों का निर्माण पूरा हुआ है । यह कार्य इंडियन ह्यूम पाइप कम्पनी मुम्बई द्वारा किया जा रहा है ।

जमीन का चक्कर

बताया जा रहा है कि पंचायत के जनप्रतिनिधि एवं पंचायत कर्मीयो के द्वारा जमीन के दस्तावेज में हेराफेरी करके पानी की टंकी को स्कूल परिसर के अंदर बनवाया जा रहा है। उक्त पानी की टंकी गांव की सरकारी जमीन में स्वीकृत थी। लेकिन सरकारी जमीन में भू-मफियाओं की नजर है। जिसके चलते पानी की टंकी को सरकारी जमीन की जगह स्कूल की जमीन में बनाया जा रहा है।

जमीन एवं बच्चो की सुरक्षा को लेकर विभाग चितिंत

स्कूल परिसर में पानी की टंकी के हो रहे निर्माण को लेकर स्कूल के हेडमास्टर भैयालाल ने सबंधित स्कूल धवैय के प्रचार्य को एक लिखित आवेदन पत्र भी दिए है। स्कूल प्रचार्य डॉ रामकृष्ण तिवारी से जब इस संबंध में जानकारी ली गई तो उन्होने बताया कि स्कूल की जमीन में निर्माण कार्य को लेकर पत्र प्राप्त हुआ है। इस समस्या से विभाग के अधिकारियो एवं जिला प्रशासन को अवगत कराया जाएगा। उन्होने कहां कि पानी की टंकी होने से बच्चो की सुरक्षा एवं शिक्षा दोनो पर प्रभाव पड़ेगा।

मध्यप्रदेश : शादी तय होने के बाद युवती ने बात करने से किया इंकार, तो एसिड फेंक दिया, दो गिरफ्तार

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *