कोरोना अपडेट : बिहार में रिकवरी दर राष्ट्रीय औसत से 6.21 प्रतिशत अधिक, 94.47 पर पहुंची

सतना में एक साथ मिले कोरोना के 22 पॉजिटिव केस, पढ़िए

मध्यप्रदेश सतना

सतना में एक साथ मिले कोरोना के 22 पॉजिटिव केस, पढ़िए

सतना (विपिन तिवारी ) ।कोविड 19 लगातार बढ़ रहा है। कोरोना वायरस शहर के निजी प्रैक्टिशनर डॉक्टर्स को भी अपना शिकार बनाया है। अब शहर के एक और नामी डॉक्टर वायरस संक्रमण का शिकार हुए हैं। पिछले कई दिनों से चल रहा कोरोना से मौतों के सिलसिले पर तो बुधवार को ब्रेक लगा लेकिन डॉक्टर , ठेकेदार और कई अन्य स्वास्थ्य कर्मियों समेत जिले भर में 22 नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

रीवा: मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे 30 सितम्बर को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का लोकार्पण

सतना जिले में कोरोना वायरस के 22 नए संक्रमित मरीज बुधवार को सामने आये हैं। इन नए मरीजों में शहर के एक और नामी डॉक्टर शामिल हैं। बिरला रोड पर नवरंग पार्क के पास रहने वाले शहर के पुराने और ख्याति हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उनके अलावा बांधवगढ़ कॉलोनी में रहने वाले जाने माने ठेकेदार और पेट्रोल पंप व्यवसायी खत्री परिवार के सदस्य भी कोरोना वायरस संक्रमण का शिकार हुए हैं। इन्हे एंटीजन रैपिड टेस्टिंग में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सोहावल ब्लॉक के कोठी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत एक एमपीडब्ल्यू और एक एएनएम में संक्रमण की पुष्टि हुई है तो नागौद में भी एक वार्ड आया वायरस का शिकार बनी है।

नर्सिंग होम संचालक की नौकरानी भी संक्रमित

शहर के चाणक्यपुरी कॉलोनी में स्थित निजी नर्सिंग होम के संचालक डॉक्टर दम्पति की नौकरानी भी कोरोना संक्रमित हो गयी है। शहर के नामी सर्जन और गायनी की डॉक्टर उनकी पत्नी तथा बेटी को कोरोना ने पहले ही अपनी चपेट में ले लिया था। डॉक्टर दम्पति के संक्रमित होने के बाद उनके एक और सहयोगी डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव मिले थे।

मध्यप्रदेश में 30 हजार शासकीय विभागों पर होगी भर्ती, पढ़िए जरूरी खबर

नर्सिंग होम का शटर डाउन कर दिया गया था। अब दम्पति के घर में काम करने वाली मेड भी रैपिड टेस्टिंग में संक्रमित मिली है। गौरतलब है की शहर में तमाम लोगों में कोरोना का संक्रमण उनके घर पर काम करने आने जाने वाले लोगों के कारण भी फ़ैल रहा है बावजूद इसके लोग इसके प्रति गंभीर नहीं हो रहे। पिछले दिनों कृष्ण नगर निवासी एक ऑटो पार्ट्स कारोबारी भी अपने घर पर काम करने वाले नौकरों के कारण ही वायरस का शिकार बने थे।

बेकाबू कोरोना से कलेक्टर परेशान, रीवा में लागू हुई नई व्यवस्था, पढ़िए

[signoff]