रीवा: जय प्रकाश ,मोहित सेन की हत्या हुई, सच्चाई दबा रही पुलिस: बी एल सेन

रीवा: जय प्रकाश ,मोहित सेन की हत्या हुई, सच्चाई दबा रही पुलिस: बी एल सेन

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: जय प्रकाश ,मोहित सेन की हत्या हुई, सच्चाई दबा रही पुलिस: बी एल सेन

रीवा (विपिन तिवारी ) ।कलेक्टर कार्यालय के सामने आल इंडिया महापद्मनंद कम्यूनिटी एंड एजुकेटेड बैनर तले सोमवार से क्रमिक अनशन शुरू किया गया है। जय प्रकाश , मोहित सेन की हुई हत्या पर पुलिस द्वारा सच्चाई दबाने केस कमजोर करने का आरोप लगाया गया है।

बी एल सेन ने आरोप लगाते हुए कहा कि जय प्रकाश सेन, मोहित सेन की साज़िश के तहत हत्या की गई है।पुलिस मामलें को दबा रही है। सच्चाई छुपाई जा रही है। उन्होंने सवाल उठाया कि मोहित सेन के शव के ऊपर मोटरसाइकिल खड़ी मिली, जिससे साफ पता चलता है कि यह दुर्घटना नही है।

उन्होंने कहा कि सतगढ़ बगीचे से लेकर नहर तक खून के धब्बे मिले हैं। जिससे साबित होता है कि हत्या कर फेंक दिया गया है। क्रमिक अनशन में अरुण सेन, समय सकेत, योगेंद्र सेन, सलेंद्र सेन, दिलीप सेन अनशन पर बैठे हैं।


रीवा: बेबा फीस नही भर पाई तो कॉलेज ने मार्कशीट अटकाई, जनसुनवाई में कलेक्टर से लगाई फीस माफ़ी की गुहार

रीवा (विपिन तिवारी ) । मंगलवार जनसुनवाई में उमरी गांव निवासी, बेबा पप्पी तिवारी पहुँची, पप्पी तिवारी की आर्थिक स्थिति ठीक न होने से पुत्री पूजा तिवारी की कॉलेज फ़ीस जमा नही कर सकी। जिसके चलते जाहिद खान महाविद्यालय ने पूजा की मार्कसीट अटका रखी है।आवेदन जमा कर कलेक्टर से कॉलेज फ़ीस माफ़ की गुहार लगाई है।

मध्यप्रदेश में इन लोगो की सैलरी उतनी ही मिलेगी जितना वो अपने माता-पिता का ख्याल रखेंगे…

पप्पी तिवारी ने बताया कि पति का स्वर्गवास हो जाने से घर मे कोई कमाने वाला नही है। घर की माली स्थिति खराब हो गयी है। मुश्किल से बच्चों को पढ़ा रही हूं।
फ़ीस माफ़ी का आवेदन दिए महीनें भर हो गए ,पर अभी तक कोई सुनवाई नही हुई है। जबकि मेरे पास सरकार की जनकल्याण पोर्टल नया सवेरा में पंजीयन है। बाबजूद उसके योजना का कोई लाभ नहीं मिल रहा है। विधवा पप्पी तिवारी ने कलेक्टर से बेटी पूजा तिवारी की कॉलेज फ़ीस माफ़, एवं आर्थिक सहायता की गुहार लगाई है।

CM SHIVRAJ का ऐलान, मध्यप्रदेश के आंगनबाड़ियों में नहीं दिया जाएगा अंडा

………………………..

जनसुनवाई में तिलों गांव के रामनारायण कोल ज़मीन विवाद को लेकर पहुँचे। कोल ने इंद्रभान पटवारी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पटवारी की मिलीभगत से ग़रीब आदिवासी समाज के लोगों की ज़मीन को उमाशंकर गुप्ता , बिनय सिंह जैसे लोगों के नाम कर दी गयी है। साथ ही सरहंगों के दम पर धमकी दी जाती है। रामनारायण कोल ने जनसुनवाई में जांच करने एवं न्याय पाने की गुहार लगाई है।उनके साथ अन्य गांव के पीड़ित ग्रामीण उपस्थित रहे।

मध्यप्रदेश में एक दिन का होगा मध्यप्रदेश विधानसभा सत्र, पढ़िए पूरी खबर

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments