लॉकडाउन में मकान-दुकान मालिक किरायेदारों से न लें किराया, होगी कार्रवाई

मकान-दुकान मालिक किरायेदारों से किराया का दबाव न बनाएं, होगी कार्रवाई

मध्यप्रदेश रीवा

लॉकडाउन में मकान-दुकान मालिक किरायेदारों से न लें किराया, होगी कार्रवाई

कोरोना संक्रमण (Coronavirus) को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान मकान-दुकान के किराएदारों से किराया नहीं लेना है. कई राज्यों ने निर्देश जारी किये है कि मकान, दुकान या किसी भी संपत्ति के मालिक लॉकडाउन के दौरान किरायेदारों पर किराया देने का दबाव नहीं बनाएंगे.

कोरोना संकट काल में भारत का डंका, कभी मज़ाक उड़ाते थें अब नतमस्‍तक है दुनिया, जानिए वजह

चूंकि लॉकडाउन की वजह से पूरे देश में आर्थिक गतिविधियां रुकी हुई हैं, जिससे लोगों की आमदनी भी बंद है, इस वजह से केंद्र सरकार ने बैंकों को EMI में छूट देने की घोषणा कर दी थी, साथ ही प्रधानमन्त्री ने किरायेदारों से लॉक डाउन के दौरान किराया न लेकर बाद में किस्तों में किराया लेने की बात कही थी. बावजूद इसके कई जगहों से शिकायतें आ रही है की संपत्ति मालिक किरायेदारों पर किराया देने का दबाव बना रहें है. ऐसा करने वालों पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है.

संकट की इस घडी में हमें देश और एक दुसरे का साथ देना है. इसलिए रीवा रियासत डॉट कॉम न्यूज़ पोर्टल भी ऐसे संपत्ति मालिकों से अपील करता है, जिन्होंने अपनी दूकान, मकान को किराया पर दे रखा है उनसे लॉकडाउन के दौरान किराया न वसूला जाय. जब लोगों का काम सुचारु रूप से शुरू हो जाएगा तब वे आपको किश्तों के रूप में किराया देना शुरू कर देंगे.

Facebook Comments