लाइफस्टाइल

दुनिया में सिर्फ 40 लोगों की रगों में दौड़ रहा है ये ब्लड ग्रुप, एक एक बूंद है सोने के बराबर

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:07 AM GMT
दुनिया में सिर्फ 40 लोगों की रगों में दौड़ रहा है ये ब्लड ग्रुप, एक एक बूंद है सोने के बराबर
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

नई दिल्ली। आज तक अपने A, B और O नाम के ब्लड ग्रुप के बारे में सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है एक ब्लड ग्रुप है जो दुनिया में केवल 40 लोगों के पास है।इस ब्लड ग्रुप का नाम है RH Null जिसे गोल्डन ब्लड के नाम से भी जाना जाता है। डॉक्टरों द्वारा इस ब्लड ग्रुप को दुनिया का सबसे रेयर ब्लड ग्रुप माना है। लाखों लोगों में से सिर्फ 4 लोगों में पाया जाने वाला यह ग्रुप एकदम अलग है। बता दें कि, पूरी दुनिया में यह 40 लोग ही आपस में ज़रूरत पड़ने पर एक दुसरे को खून दे सकते हैं। खास बात यह है कि इस ब्लड ग्रुप वाले को कोई खून नहीं दे सकता लेकिन यह एक मात्र ऐसा ब्लड ग्रुप है जो किसी को भी खून देने में सक्षम होता है।

[poll id="6"]

बता दें कि, किसी भी ब्लड ग्रुप में आरएच एंटीजन होते हैं लेकिन RH Null में कोई एंटीजन नहीं पाए जाते हैं। किसी इंसान के ब्लड ग्रुप के बारे में जानने के लिए उसके शरीर के एंटीजन गिने जाते हैं और उसी से पता चलता है कि, वह इंसान किस ब्लड ग्रुप से ताल्लुक रखता है। एंटीजन के बारे में और जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि किसी के शरीर में जितना कम एंटीजन पाया जाता है वह खून उतना ही रेयर होता जाता है। RH Null की जांच में पता चला है कि उसमें कम से कम 50 एंटीजन की कमी होती है। यही वजह है RH Null को रेयर ब्लड ग्रुप की श्रेणी में रखा गया है। इस ब्लड टाइप की खोज 56 साल पहले हुई थी। 10 लाख लोगों में से सिर्फ 4 लोगों में ही ये पाया जाने वाले RH Null ब्लड ग्रुप के लोगों की ज़िंदगी सामान्य ही होती है लेकिन उन्हें बच कर रहना पड़ता है। क्योंकि उन्हें आसानी से उनके ग्रुप के लोग नहीं मिल पाते।

Next Story
Share it