लाइफस्टाइल

करवा चौथ व्रत: भूलकर भी न करें ये 5 काम, होता है बड़ा अपशगुन

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:01 AM GMT
करवा चौथ व्रत: भूलकर भी न करें ये 5 काम, होता है बड़ा अपशगुन
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

सुहागन महिलाओं का सबसे बड़ा पर्व करवा चौथ इस महीने 27 अक्टूबर को शनिवार के दिन मनाया जा रहा है। खास बात यह है कि इस दिन संकष्टी गणेश चतुर्थी होने से यह पर्व और भी शुभ हो गया है।यह व्रत पति की लंबी आयु के साथ अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाने की कामना से रखा जाता है। इस व्रत को रखने वाली हर महिला को आस्था के इस त्योहार से जुड़े कुछ नियमों का पालन जरूर करना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा न करने पर व्रत का सारा पुण्य खत्म हो जाता है। आइए जानते हैं ज्योतिषाचार्य विवेक शर्मा से कि इस दिन महिलाओं को भूलकर भी कौन से काम करने से बचना चाहिए।

काले कपड़े इस दिन महिलाओं को भूलकर भी काले वस्त्र धारण करने की गलती नहीं करनी चाहिए।इसके अलावा सफेद साड़ी पहनने से भी बचना चाहिए। काला रंग सुहागिन महिलाओं के लिए अशुभ फलदायी माना जाता है।

दूसरी गलती भी जान लें : कैंची और चाकू का इस्तेमाल करने से बचे इस दिन कैंची का प्रयोग न करें। अक्सर महिलाएं कपड़े काटने के लिए कैंची का प्रयोग करती हैं। इस दिन भूलकर भी कैंची का प्रयोग न करें बल्कि उसे कहीं छुपा दें ताकि वो दिखे भी नहीं।इसके अलावा इस खास दिन महिलाओं को चाकू का इस्तेमाल करने की भी मनाही होती है।

तीसरी गलती करने से भी बचें : निंदा मत करें आपने ये कहावत तो कई बार सुनी होगी कि खाली दिमाग शैतान का घर। खाली बैठकर इस दिन आप किसी की निंदा मत करें। किसी की चुगली या बुराई करने से व्रत का फल नहीं मिलता है।इसके अलावा अपने बड़ों का निरादर भी न करें।

चौथी गलती तो भूलकर भी न करें : प्यार से बात करें वैसे तो पति-पत्नी को हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि वो एक दूसरे से प्यार से बाते करें। आपस में कोई विवाद न करें। यदि कोई विवाहित महिला सारा दिन निराजल व्रत रखने के बाद भी अपने पति को डांटती है या उसका अपमान करती है तो उसका सारा व्रत बेकार हो जाता है।

पांचवी गलती: श्रृंगार से जुड़े नियम श्रृंगार करते समय जो चूड़ियां टूट जाये उनको बहते जल में प्रवाहित करें न कि घर में रखें।इसके अलावा सुहाग सामग्री जैसे, चूड़ी, लहठी, बिंदी, सिंदूर को कचड़े में नहीं फेंके। श्रृंगार करते समय अपने सुहाग की लंबी उम्र के लिए कामना करें।इसके अलावा पति के अलावा किसी का चिंतन किसी भी स्थिति में मत करें।

Next Story
Share it