कटनी

KATNI : फर्जी सब इंस्पेक्टर बनकर परिवार को धोखा देती रही युवती

News Desk
20 April 2021 9:52 AM GMT
KATNI : फर्जी सब इंस्पेक्टर बनकर परिवार को धोखा देती रही युवती
x
कटनी। जिले के माधवनगर थाने की झिंझरी चौकी पुलिस ने एक युवती को फर्जी सब इंस्पेक्टर बनने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपित युवती के पास से खाकी वर्दी, मप्रपु का मोनो, टोपी, नेम प्लेट, नीली ह्वीसल डोरी, ब्राउन बेल्ट, जूता, बैरेट कैप को जब्त किया है। आरोपित युवती के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर प्रकरण की विवेचना की जा रही है।

कटनी। जिले के माधवनगर थाने की झिंझरी चौकी पुलिस ने एक युवती को फर्जी सब इंस्पेक्टर बनने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपित युवती के पास से खाकी वर्दी, मप्रपु का मोनो, टोपी, नेम प्लेट, नीली ह्वीसल डोरी, ब्राउन बेल्ट, जूता, बैरेट कैप को जब्त किया है। आरोपित युवती के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर प्रकरण की विवेचना की जा रही है।

आपको बता दें कि एक युवती अपने परिवार से लगातार झूठ बोलती रही कि उसका चयन पुलिस सेवा में हो गया है। इतना ही नहीं वह बकायदा ट्रेनिंग के लिए सागर में भी रही फिर कटनी पोस्टिंग बताकर वर्दी लगाकर कटनी का अपडॉउन भी करती रही।

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

बताया गया है कि युवती अपने पिता से रुपये भी लेती रही और कहती कि जब सैलरी मिलेगी तो वह रुपये वापस कर देगी। मामले का खुलासा तब हुआ जब उसके पिता ने सैलरी न मिलने की शिकायत पुलिस से कर दी। पुलिस ने बताया कि जबलपुर जिले के घमापुर थाना अंतर्गत कांचघर निवासी गेंदालाल गोंटिया ने कटनी पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायत की जिसमें बताया गया कि उनकी बेटी संजना गोंटिया 27 एसआइ के पद पर कटनी पुलिस विभाग में पदस्थ है लेकिन उसको उसको वेतन नहीं दी जा रही है। शिकायत पत्र में आवेदन दिलाए जाने और वेतन अब तक नहीं मिलने पर जिसके द्वारा लापरवाही की गई है उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।

पुलिस ने किया गिरफ्तार

शिकायत की जांच में पुलिस को पता चला कि संजना गोंटिया नाम की कोई भी युवती कटनी जिले में एसआई के पद पर पदस्थ नहीं है। पुलिस टीम ने 18 अप्रैल को पुलिस अधीक्षक कार्यालय के पास से खाकी वर्दी और दो स्टार लगाए हुए एक युवती जिसकी नेम प्लेट में संजना गोंटिया लिखा था। उसे हिरासत में लिया। पूछताछ में संजना गौंटिया ने बताया कि वह पुलिस विभाग में नहीं है। उसने अपने पिता और मोहल्ले वालों से झूठ बोला था।

ऐसी है फर्जी इंस्पेक्टर की कहानी

आरोपित युवती संजना ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसने 2017 में एसआइ की परीक्षा दी थी, लेकिन उसका चयन नहीं हुआ था। बावजूद इसके संजना द्वारा अपने घर वालों और मोहल्ले वालों से कहा कि उसका चयन हो गया है। वर्ष 2018 में वह ट्रेनिंग करने के लिए सागर गई और वहां हॉस्टल में किराए का कमरा लेकर करीब 15 महीने रही। जबकि यहां पर कोई ट्रेनिंग नहीं हुई। लेकिन वह अपने पिता से लगातार झूठ बोलती रही है। पिछले वर्ष अप्रैल महीने में उसने अपने पिता से कहा कि उसकी पोस्टिंग कटनी में हो गई। उसके द्वारा अपने पिता से रुपये भी ये कहकर मांगे गए कि उसे जब सैलरी मिलेगी तो वह वापस कर देगी।

पुलिस ने बताया कि आरोपित युवती जबलपुर स्थित अपने घर से कटनी में ड्यूटी करने के लिए वर्दी पहनकर निकलती थी और रोज अपडॉउन करती थी। इस कार्रवाई पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के निर्देशन, संदीप मिश्रा, शशिकांत शुक्ला, माधवगनर थाना प्रभारी संजय दुबे के मार्गदर्शन में की गई।

Next Story
Share it