कटनी

Katni: महिला सहित मासूम की हत्या कर कुएं में फेंका गया था शव, पिता सहित तीन बेटे गिरफ्तार

Suyash Dubey
14 May 2021 11:09 AM GMT
कटनी/ Katni News: जिले के विजयराघवगढ़ (Vijayraghavgarh Murder News ) थाना क्षेत्र अंतर्गत हरदुआ कला गांव में खेत में बने एक कुएं में मां-बेटे की लाश 7 मई को मिली थी।

कटनी/ Katni News: जिले के विजयराघवगढ़ (Vijayraghavgarh) थाना क्षेत्र अंतर्गत हरदुआ कला गांव में खेत में बने एक कुएं में मां-बेटे की लाश 7 मई को मिली थी। इस मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। महिला एवं बेटे की हत्या गला दबाकर किये जाने की बात सामने आई है और साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से शव को कुएं में फेंक दिया गया था। कपड़ों को जला दिया गया था। इस मामले में पिता सहित तीन बेटों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा शव को कुएं बाहर निकवाया गया और उसके पहचान के लिए कटनी जिले सहित पड़ोसी जिलों के थानों से संपर्क किया। लेकिन कहीं कोई सुराग नहीं चल सका।

इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली कि हरदुआ (Hardua gao) गांव के पास ही स्थित पड़खुरी गांव (Padkhuri) निवासी सुरेश पटेल के तीन बेटे हैं और तीनों की शादी नहीं हुई है। कुछ दिन पहले एक महिला व बच्चे को घर पर देखा गया था। जो अब नहीं दिख रहे। जिसके बाद पुलिस द्वारा सुरेश पटेल व उसके तीनों बेटे लवकुश, अरुण व संदीप से पूछताछ की जहां सारा मामला सामने आ गया।

विजयराघवगढ़ थाना (Vijayraghavgarh) क्षेत्र के हरदुआ कला से 7 तारीख की दरमियानी शाम एक कॉल आता है कि हमारे खेत के कुएं में एक महिला व बोरे में बंद एक बच्चे का शव डला हुआ है। जिसे गांव का कोई भी व्यक्ति नहीं जानता। मौके पर पहुँची पुलिस ने अज्ञात शव का मामला पंजीबद्ध कर जांच में जुट गई और आसपास के लोगों अज्ञात शव की शिनाख्त के लिए पूछताछ शुरू कर दी। जांच के दौरान महिला और बच्चे की गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट दर्ज न होना चुनौती बनी हुई थी। घटना स्थल से यह स्पष्ट था कि आरोपित कोई आसपास का ही है। जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश व मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सहित स्टाप ने ग्राम पडखुरी निवासी सुरेश पटेल के यहां पहुंची। जिसके तीन बेटे हैंए जिनसे पूछताछ करने पर उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार किया।

ऐसी है पूरी कहानी

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका की पहचान उत्तरप्रदेश के कानपुर जिले के चैबेपुर थाना अंतर्गत बनसठी गांव निवासी रुचि उर्फ मोहनी के रूप में की गई है। बताया गया है कि युवती तीन-चार वर्ष पूर्व गांव के ही एक युवक के साथ भागकर सूरत चली गई थी। इस दौरान उसने बेटे को जन्म दिया। कुछ दिनों बाद युवक और रुचि के बीच विवाद होने लगा। जिसके बाद युवती कटनी जिले के विजयराघवगढ़ निवासी लवकुश पटेल के साथ रहने लगी। युवती का संबंध 3 से 4 साल पहले लवकुश पटेल से सूरत में काम के दौरान हो गया था। जिसके बाद कुछ दिन तो सब ठीक रहा फिर इन दोनों में विवाद शुरू हो गया। जिसके बाद लवकुश पटेल रुचि ओर बच्चे को लेकर अपने गांव पडखुरी लौट आया। जिसके बाद 2 मई को भाई अरुण से रुचि का विवाद हो गया तो अरुण से पहले महिला की हत्या कर दी फिर बच्चे की हत्या की। वहीं साक्ष्य छुपाने तीनों भाइयों ने मिलकर मोटरसाइकल से शव को कुएं में फेंक आये और महिला व बच्चे के कपड़े पास के ही खेत में जला दिया। इस मामले में पुलिस ने लवकुश पटेल, संदीप, अरुण और सुरेश को गिरफ्तार कर लिया है।

Next Story
Share it