कटनी

प्यास से बेहाल यात्रियों को मिला मटमैला पानी, किसी ने पीया तो किसी ने...: KATNI/SATNA NEWS

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:13 AM GMT
प्यास से बेहाल यात्रियों को मिला मटमैला पानी, किसी ने पीया तो किसी ने...: KATNI/SATNA NEWS
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

कटनी। रविवार दोपहर 2 बजकर 6 मिनट का समय, प्लेटफार्म क्रमांक पांच पर लग रही जन साधारण एक्सप्रेस, ट्रेन के रुकते ही हाथों में बॉटल लेकर नलों की ओर दौड़ लगाते यात्री, एक नल से दूसरे नल का काट रहे चक्कर, बॉटल भरकर वापस ट्रेन में जाने की तैयारी लेकिन ज्यों ही नजर पानी पर पड़ी तो कहा कि यह क्या है...। जमकर प्यास लगी थी यहां तो गंदा पानी आ रहा है। इस दौरान कई यात्रियों ने पानी को सूंघा। पानी मटमैला होने के कारण उन्होंने उसे गंदा माना और फेंकना शुरू कर दिया। कई यात्री फिर बगैर पानी भरे ही वापस ट्रेन में बैठ गए। वहीं कई यात्रियों की मजबूरी रही कि उन्होंने वेंडरों से पानी की बॉटल खरीदी। मटमैला पानी प्लेटफॉर्म क्रमांक 3 और चार पर भी आ रहा था। जबलपुर जा रहे यात्री मुकेश गुप्ता ने बताया कि स्टेशन में ऐसी स्थिति कई बार बनती है, जब पानी खराब आता है। बगैर फिल्टर किए हुए ही पेयजल की सप्लाई चालू रहती है। मुजफ्फरपुर से लोकमान्य तिलक की यात्रा कर रहे यात्री जमुल हुसैन ने कहा कि सतना से ट्रेन छूटने के बाद प्यास लगी थी। कटनी में पानी भरा तो गंदा व कचरा निकला।

कई नलों में नहीं आ रहा था पानी

प्लेटफार्म के नलों से सिर्फ गंदा मटमैला पानी ही नहीं आ रहा था, बल्कि कुछ नलों में पानी ही नही आ रहा था। ऐसे में यात्री नलों की तशाल में भटकते रहे। यात्रियों को ट्रेन छूटने का भी डर बना हुआ था। यात्रियों ने कहा कि स्टेशन में साफ पानी भी नहीं मिल रहा। एक यात्री ने साफ पानी और नलों से आने वाले पानी को दिखाया। उसने कहा कि इतना गंदा पानी आ रहा है, इसे कोई देखने वाला नहीं है। अधिकांश यात्रियों ने पानी को फेंक दिया।

इधर, खाली बॉटल में पानी बेचते मिला प्रौढ़

मुख्य रेलवे स्टेशन में एक बेपरवाही का नमूना भी सामने आया। एक प्रौढ़ हाथों में चार-पांच पानी की बॉटल लिए हुए था। यह प्रौढ़ ट्रैक व प्लेटफॉर्म से खाली बॉटल बीनकर उन्हें साफ कर फ्रीजर का पानी भरता है और फिर उन्हें स्टेशन में बेच देता है। कई महीनों से यह प्रौढ़ इस कारोबार को अंजाम दे रहा है। ट्रेनों में व प्लेटफार्म में यात्रियों के साथ जहरखुरानी की घटना सामने आने के बाद भी आरपीएफ, जीआरपी व रेलवे प्रबंधन अनजान बना हुआ है। ऐसे तत्वों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही।

इनका कहना है -सूचना पर तत्काल आइओडब्ल्यू कर्मचारियों को सूचना दी गई। तत्काल उसे ठीक कराने के लिए कहा गया। पानी गंदा क्यों आ रहा था, इसका पता लगाया जाएगा। साफ पानी यात्रियों को मिले, यह सुनिश्चित किया जाएगा। नलों में हमेशा पानी आए, इस पर ध्यान दिया जाएगा। -संजय दुबे, स्टेशन प्रबंधक कटनी

Next Story
Share it