इंदौर

दूसरे राज्यों में फंसे MP के लोगों को राशि भेजेगी शिवराज सरकार

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:19 AM GMT
दूसरे राज्यों में फंसे MP के लोगों को राशि भेजेगी शिवराज सरकार
x
दूसरे राज्यों में रह रहें लोंगों पर पेट भरने का संकट आ पड़ा है। जिसके लिए MP की शिवराज सरकार मजदूरों को एक-एक हजार रूपए राशि भेजेगी।

दूसरे राज्यों में फंसे MP के लोगों को राशि भेजेगी शिवराज सरकार

भोपाल. मध्यप्रदेश के लाखों ऐसे नागरिक हैं जो दूसरे राज्यों में रहकर मजदूरी करते हैं. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की वजह से देश लॉकडाउन पर है, जिसकी समय सीमा 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बढ़़ाकर 3 मई कर दी गई है. इस वजह से दूसरे राज्यों में रह रहें लोंगों पर पेट भरने का संकट आ पड़ा है. जिसके लिए MP की शिवराज सरकार मजदूरों को एक-एक हजार रूपए राशि भेजेगी.

प्रभारी मंत्री के स्थान में मध्यप्रदेश में सभी जिलों में 10 IAS प्रभारी सचिव नियुक्त

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे मध्यप्रदेश के मजदूर भाईयों को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है. उन्होने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर एमपी के निवासियों के लिए रहने एवं खाने की उचित व्यवस्था करने के लिए कहा है. साथ ही मध्यप्रदेश सरकार उन सभी मजदूर भाईयों को एक-एक हजार रूपए भेजेगी. मुख्यमंत्री ने देशभर के लोगों से निवेदन भी किया है कि वे जहां हैं वहीं रहें एवं लॉकडाउन का पालन करें, जिससे इस वैश्विक महामारी के खिलाफ शुरू लड़ाई को जीतकर देश को कोरोनावायरस से मुक्ति दिला सकें.

अशोकनगर से पैदल चलकर रीवा पहुंचे 40 मजदूर

रीवा के कोतवाली थाना इलाके के ग्राम भरौला में करीब 35 से 40 दिहाड़ी मजदूर रुके हैं. इनमें से श्यामलाल नामक मजदूर ने बताया हम सभी लोग अशोकनगर बीना से पैदल चलकर आए हैं. हमें शहडोल जाना है. उन्होंने यह भी बताया कि आते वक्त उनकी किसी भी प्रकार की जांच नहीं हुई.

इंदौर में कोरोना का कहर जारी, आंकड़ा 544 पहुंचा

इंदौर में कोरोना का कहर जारी है. दिल्ली से आई जांच रिपोर्ट के बाद शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 544 हो गई है. बुधवार सुबह स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट में बताया गया कि दिल्ली भेजे गए सैम्पल में से 117 पॉजिटिव आए हैं. सीएमएचओ डॉ प्रवीण जड़िया ने इसकी पुष्टि की है. मंगलवार रात तक शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 427 थी.

Next Story
Share it