इंदौर

PUBG: टास्क पूरा करने के लिए बच्चे ने रची ऐसी साजिश कि सब घनचक्कर हो गए

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:06 AM GMT
PUBG: टास्क पूरा करने के लिए बच्चे ने रची ऐसी साजिश कि सब घनचक्कर हो गए
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

इंदौर। सदर बाजार थाना क्षेत्र से लापता हुए दसवीं के छात्र ने मिलने के बाद तीन दिन में तीन बार बयान बदले। रविवार को उसने कबूला कि जो रुपए लेकर वह सामान खरीदने गया था, वे गुम गए थे। उसे डर था कि परिजन इसके लिए उसे डांटेंगे और वह मुंबई भाग गया। उसने पहले बताया था कि जिस बाइक सवार युवक के साथ वह गया था, उसने रास्ते में उसे गन्ने के रस के साथ नशीला पदार्थ पिला दिया था। इसके बाद उसे मुंबई में होश आया। उसने पहले यह भी बताया था कि बाइक सवार युवक उसका अपहरण करके ले गया और ट्रेन में अकेला छोड़कर भाग गया था।

सचिन (15) पिता परमात्मा सिंह निवासी सिरेमल बाफना मार्ग गुरुवार को रहस्यमय ढंग से गायब हो गया था। शुक्रवार दोपहर उसके मुंबई में मिलने की सूचना मिली और शनिवार शाम परिजन उसे लेकर इंदौर लौट आए। तबीयत बिगड़ने पर उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सदर बाजार थाना प्रभारी अजय कुमार वर्मा ने बताया कि किशोर को पूछताछ के बाद रविवार को उसके परिजन को सौंप दिया गया है। उसने पूछताछ में बताया कि बाइक सवार युवक के साथ वह इमली बाजार गया था। रुपए कम पड़ने पर वह घर लौटा और मां का एटीएम लेकर वापस गया। उसने मल्हार आश्रम के समीप एसबीआई के एटीएम से रुपए निकाले थे। दुकान पहुंचने के पहले रुपए जेब से गिर गए। परिजन के डर से वह घर नहीं गया और पैदल रेलवे स्टेशन चला गया। करीब 7.30 बजे वह ट्रेन में बैठा और देवास पहुंच गया। करीब चार घंटे इंतजार करने के बाद वह दूसरी ट्रेन में बैठा और वासी (मुंबई) पहुंच गया। यहां एक युवक की मदद से उसने मां को फोन लगाया और जानकारी दी। इसके बाद उसे पुलिस स्टेशन में बैठा दिया गया।

घटनास्थल पर छात्र को ले गई पुलिस टीआई ने बताया कि रविवार को जांच अधिकारी एएसआई शिवकुमार सोलंकी किशोर और उसकी मां को घटनास्थल पर ले गए। उन्हें एटीएम पर और फिर उस दुकान पर ले जाया गया जहां वह सामान खरीदने आया था। इसके बाद किशोर ने बताया कि बाइक सवार युवक उसे फूल की दुकान पर ले गया था। पुलिस उसे सभी स्थानों पर ले गई। गलियों में उस बाइक को भी तलाशा, जिससे युवक किशोर को ले गया था। किशोर घटना की सही जानकारी नहीं दे पा रहा है या शायद सच छिपा रहा है। पुलिस फुटेज के आधार पर युवक को तलाश रही है, जिसके साथ बच्चा सामान खरीदने गया था।

ट्रेन का समय भी गलत बताया सोलंकी ने बताया कि छात्र पबजी गेम खेलने का आदी है। उसके दोस्तों से पूछताछ में पता चला कि वह खाली समय में पबजी खेलता है। मां ने भी पुलिस को बताया कि पड़ोसी के मेडिकल स्टोर पर जाकर बेटा पबजी खेलता है। पुलिस को छात्र ने बताया कि वह इंदौर से देवास गया था। यहां चार घंटे बैठा रहा। इसके बाद वह रात करीब 11 बजे मुंबई की ट्रेन में बैठा था। जबकि जो समय बता रहा है उस वक्त कोई ट्रेन मुंबई नहीं जाती है। पुलिस को शंका है कि पबजी गेम का टास्क पूरा करने के लिए किशोर ने उक्त कदम उठाया। वह अभी घबराया हुआ है और सच भी छिपा रहा है। उसकी दिमागी हालत ठीक होने के बाद दोबारा काउंसलिंग और पूछताछ की जाएगी।

Next Story
Share it