इंदौर

बस्ती में घुसा तेंदुआ, एक ही परिवार के 3 लोगो को किया घायल

Sandeep Tiwari
11 March 2021 3:08 PM GMT
इंदौर। जंगल के रकवे में हो रही कमी का परिणाम है कि वन्यजीव शहरों, नगरों तथा गंवों में जा रहे हैं। इंदौर के राला मंडल में विगत दिनों देखा गया तेंदुआ लिंबोदी इलाके में प्रवेश कर गया। तेंदुए ने 4 लोगांे केा घायल कर दिया है जिसमें 3 लोग एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं।

इंदौर। जंगल के रकवे में हो रही कमी का परिणाम है कि वन्यजीव शहरों, नगरों तथा गंवों में जा रहे हैं। इंदौर के राला मंडल में विगत दिनों देखा गया तेंदुआ लिंबोदी इलाके में प्रवेश कर गया। तेंदुए ने 4 लोगांे केा घायल कर दिया है जिसमें 3 लोग एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार इंदौर के रालामंडल क्षेत्र में बुधवार को तंेदुआ देखा गया था। इसकी जानकारी बुधवार को ही वन मंडल को दी गई। बताया जाता है कि वन मंडल की टीम तेंदुए के खोजती रही और वह लिंबोदी निकल गया।

वन विभाग की टीम लगातार तेंदुए की तलाश में लगी रही। गुरूवार को जैसे तेंदुए के लिंबोदी पहुंचने की जानकारी मिली। टीम अलर्ट होकर पूरी तैयारी के साथ पहुंची। लेकिन इसके पहले तेंदुए ने चार लोगों को घायल कर दिया।

गुरुवार सुबह सर्चिंग टीम लिम्बोदी क्षेत्र पहुंची तो पता चला कि तेंदुआ तेंदुआ खेमराज राठौर के घर में जा घुसा है। टीम पूरी क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया लेकिन इसी बीच तेंदुए ने खेमराज और उनकी पत्नी पद्मा पर वार घायल कर दिया।

बताया जाता ह कि बाद वह पीछे के दरवाजे से निकलकर निर्माणाधीन मकान में घुस गया, जहां चैकीदार सुखलाल के नाती को पकड़ लिया और उसका सिर मुंह में दबा लिया। बचाव के लिए जैसे ही सुखलाल बढ़ा तो तेंदुए ने बच्चे को छोडकर उसका हाथ अपने जबड़े में भर लिया।

ऐसे हालात में वन विभाग की टीम और स्थानीय लोगों ने डंडा लेकर तेंदुए का भगाया और वह बाथरूम मे छिप गया है। वन विभाग की टीम तेंदुए को सुरक्षित बचाने के लिए उसे बेहास कर दिया हैं और अपने साथ लेगयी।

Next Story
Share it