इंदौर

बेहतर सुविधा देने के लिये जेल प्रहरी ने मांगी रिश्वत, लोकायुक्त ने दबोचा

News Desk
1 March 2021 3:40 PM GMT
इंदौर। जेल में कैदी को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिये 25 हजार रुपये मांगने वाले महू उपजेल के आरक्षक व स्वीपर को पुलिस ने रंगे हाथ दबोच लिया। आरक्षक ने कैदी के परिजनों से 25 हजार रुपये की मांग की गई थी जो स्वीपर के माध्यम से देने थे। मामले की शिकायत इंदौर लोकायुक्त पुलिस में की गई। जहां लोकायुक्त टीम द्वारा आरक्षक एवं स्वीपर को दबोच लिया गया।

इंदौर। जेल में कैदी को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिये 25 हजार रुपये मांगने वाले महू उपजेल के आरक्षक व स्वीपर को पुलिस ने रंगे हाथ दबोच लिया। आरक्षक ने कैदी के परिजनों से 25 हजार रुपये की मांग की गई थी जो स्वीपर के माध्यम से देने थे। मामले की शिकायत इंदौर लोकायुक्त पुलिस में की गई। जहां लोकायुक्त टीम द्वारा आरक्षक एवं स्वीपर को दबोच लिया गया।

मिली जानकारी अनुसार जितेंद्र सोलंकी निवासी खजुरिया ने लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई कि उसके मित्र दिलीप चैकसे के खिलाफ किशनगंज थाना में जून 2020 आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई थी। मामले में उसका मित्र उपजेल महू में बंद है। जहां उसके मित्र को कोई परेशानी न हो जेल स्टाफ द्वारा रुपयों की मांग की जाती है। जिसमें पहले रुपये दिये जा चुके हैं फिर भी और मांगे जा रहे हैं। बताया गया कि उपजेल के प्रहरी अजेंद्र सिंह राठौर द्वारा 25 हजार रुपये की मांग की जा रही है। इसके बाद लोकायुक्त डीएसपी की टीम ने प्लान के तहत शिकायत कर्ता को रुपये लेकर भेजा।

सोमवार को शिकायतकर्ता रुपये लेकर पहुंचा और साथ ही लोकायुक्त टीम भी जेल प्रांगण पहंुच गई। जेल प्रहरी अजेंद्र ने जेल में कार्यरत स्वीपर मनीष बाली रुपये देने को कहा। जैसे ही मनीष ने रुपये लिये वहां मौजूद टीम ने रंगेहाथ दबोच लिया। पूछताछ करने पर पूरे मामले का खुलासा हुआ।

Next Story
Share it