2021/04/hasband wife.jpg

Indore : प्रेम कहानी का दुखदः अंत, कोरोना से पति की मौत होते ही पत्नी ने उठाया यह कदम

RewaRiyasat.Com
Viresh Singh Baghel
29 Apr 2021

इंदौर (Indore News) :  अपने पवित्र प्रेम को विवाह की मुहर लगाकर जीवन के उची उड़ानों के बीच जीवन जी रहे पति में कोरोना का ऐसा सक्रंमण आया कि बस सब कुछ खत्म कर दिया। पति की कोरोना से मौत होते ही पत्नी ने घर के कमरे में फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया। 

यह घटना इंदौर के सेंचुरी पार्क स्थित फ्लैट मे रहने वाले नव दम्पत्ति की है। बताया जा रहा है कि पति की कोरोना से मौत के ढाई घंटे बाद ही पत्नी नेहा 34 वर्ष ने फ्लैट में जाकर फांसी लगा ली।

 5 वर्ष पूर्व हुआ था विवाह

दोनों ने पांच वर्ष पहले प्रेम विवाह किया था। शुभम का हाल ही में पीएससी के जरिये रेंजर के लिए चयन हुआ था। वे ट्रेनिंग के लिए देहरादून जाने वाले थे, लेकिन कोरोना हो गया। पांच दिन घर में इलाज किया, तबीयत बिगड़ने पर 15 अप्रैल को उन्हे भर्ती किया गया था। नेहा निजी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर थीं।

अस्पताल पहुची और कर ली आत्महत्या

बड़वानी निवासी पवन के पिता ललित सोनी और नेहा के भाई अनुराग विश्वकर्मा निवासी बिलासपुर का कहना था कि पवन जब से बीमार पड़े, नेहा उनके साथ ही थी। चार दिन पहले तबीयत ज्यादा बिगड़ी तो दोनों के घरवाले भी इंदौर आ गए। पवन की हालत देख नेहा बार-बार कहती थी कि कैसे भी उसे बचा लो, वरना मैं भी कुछ कर लूंगी। सुबह अचानक नेहा के सामने पवन की मौत हुई तो वह सहन नहीं कर सकी। वह कपड़े लेने के बहाने भाई के साथ फ्लैट में गई और खुदकुशी कर ली।

ऐसे शुरू हुई प्रेम कहानी

पवन की मां राजश्री पंवार बड़वानी में खंड शिक्षा अधिकारी हैं, पिता भी शिक्षा विभाग में हैं। 18 साल पहले पवन मौसी के घर कोरबा गया था, वहीं नेहा से दोस्ती हुई। नेहा के पिता का बिलासपुर तबादला हुआ तो पवन भी वहां पहुंच गया। वहीं दोनों ने शादी का फैसला किया। बाद में पवन इंदौर आ गया व शादी के बाद नेहा भी उसके साथ इंदौर में रहने लगी थी।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER