2021/05/criem 2.jpg

Indore : गर्लफ्रेंड को खुश करने कर डाला इतना बड़ा कांड, अब रासुका के तहत होगी कार्रवाई

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
06 May 2021

इंदौर (Indore News) :  कोरोना महामारी के बीच कुछ लोग पैसे कमाने के लिये गलत तरीके अपनाना शुरू कर दिये है। ऐसा ही एक मामला एमपी के इंदौर से सामने आया है। जहा आरोपित ने अपनी शानों शौकत एवं गर्लफ्रेंड को खुस करने के लिये लोगो के जीवन से खिलवाड़ कर रहा था। वह इंजेक्शन में पानी भर लाखो रूपये जरूरत मंदो से वसूल कर रहा था।

आरोपी टोसिलिजुमैब (टोसी) के इंजेक्शन ढाई-ढाई लाख रूपये में बेच दिए, जबकि उसमें वह पानी भरे हुये था। शिकायत मिलने पर पुलिस ने जान बिछाया और उसके सलाखों के पीछे पहुचाया है।

पैसे से तैयार कर रहा था ग्रहस्थी 

बताया जा रहा है कि गलत इंजेक्शन से उसके पास जैसे-जैसे पैसे आते गए, उसने घर के लिए कूलर, फ्रिज, अलमारी और मोबाइल के साथ एक वर्ष के लिये राशन खरीद लिया। इतना ही नहीं, उसने अपनी गर्लफ्रेंड के लिए हजारों के कपड़े खरीद लिए और कई गिफ्ट भी दिए। लॉकडाउन खुलने का आरोपी इंतजार कर रहा था। वह गर्लफ्रेंड को घुमाने ले जाने वाला था।

रासुका के तहत होगी कार्रवाई

एसपी आशुतोष बागरी के मुताबिक पानी भरकर टोसिलिजुमैब के इंजेक्शन बेचने के मामले में पकड़ा गए सुरेश यादव 29 वर्ष के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। सुरेश ने कबूला है कि वह पांच लोगों को दो से ढाई लाख रुपए में इंजेक्शन बेच चुका है।

महिला इंस्पेक्टर के जाल में आया आरोपी

पुलिस अधिकारी के मुताबिक एसआई प्रियंका शर्मा को सोशल मीडिया ग्रुप इंदौर स्मार्ट सिटी पर टोसी इंजेक्शन की डिमांड डालने के लिए कहा गया, तभी आरोपी ने उनसे चैट की और इंजेक्शन की मांग तो वह देने के लिये तैयार हो गया। उसकी असल कीमत 40 हजार है, लेकिन अभी ब्लैक में ढाई लाख रुपए में मिलेगा। ऐसा कहकर आरोपी ने प्रियंका से ढाई लाख रुपए में सौदा कर लिया।

इंस्पेक्टेर के साथ थें पुलिस कर्मी

आरोपी ने प्रियंका को विजय नगर में राधेश्याम पहलवान के घर के पास मिलने के लिए बुलाया। जंहा इंस्पेक्टेर के साथ पुलिस कर्मी आटो का चालन करते हुये पहुचे थे। आरोपी को वे रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया।

6 पर रासुका

विजय नगर पुलिस ने जिन 6 आरोपियों को पिछले दिनों रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते पकड़ा था, उनके खिलाफ भी रासुका की कार्रवाई की जा रही है। ​​​​​​पुलिस के मुताबिक ऐसे आरोपी सोशल मीडिया पर ज्यादा सक्रिय हैं, इसलिए सोशल मीडिया पर खास नजर रखी जा रही है।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER