CORONA_IS_BACK.jpg

Indore : सांची पर कोरोना का असर, कर्मचारी हो रहे संक्रमित, नहीं बिक रहा दुग्ध उत्पाद

RewaRiyasat.Com
Suyash Dubey
03 May 2021

इंदौर/ Indore : कोरोना के बढते प्रकोप को रोकने के लिए लाॅकडाउन जैसे कडे निर्णय लिए गये हैं। लेकिन इस प्रकोप का असर सीधा असर व्यापार पर पड़ रहा है। वही हिचकोले लेकर चलने वाली सरकारी व्यापारिक संस्थओं का तो दम निकलने जैसा हाल हो गया है। इंदौर के सहकारी दुग्ध संघ की हालत दिनों दिन खराब होती जा रही है। इस कोरोना काल में दूध आवश्यक सेवा में से एक है। ऐसे में कार्र बंद नही किया जा सकता। कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। वही दूध की बिक्री कम होने से संस्थान पर बोझ बढ़ता जा रहा है। 

नहीं हो रही दूध की बिक्री

जानकारी के अनुसार मांगलिया प्लांट पर करीब 4 लाख लीटर दूध का संग्रहण हो रहा है। इंदौर में जनता कर्फ्यू लगा होने से यहां दूध की बिक्री मात्र 1.90 लाख लीटर ही हो रही है। ऐसे में बचे हुए दूध से दुग्ध संघ को मिल्क पाउडर और बटर बनाना पड़ रहा है। लेकिन वह भी नही बिक रहा है।

किसानों का बचाना है लक्ष्य

बताया जाता है कि कोरोना की वजह से लगे लाॅकडाउन में जहां सांची दूध की बिक्री कम हो गई है। वही दूध से बने उत्पाद भी नही बिक रहे हैं। ऐसे में दूध संग्रहण कम कर देना चाहिए। लेकिन किसानों को इससे भारी परेशान हो जायेगी इस बात को ध्यान में रखते हुए किसानों से दूध प्रतिदिन खरीदा जा रहा है।

संक्रमित हो रहे कर्मचारी

कोरोना के बढ़ते प्रकोप का असर इंदौर सहकारी दुग्ध संघ के कर्मचारियों पर भी है। आये दिन कर्मचारी कोरोना की चपेट में आकर संक्रमित हो रहे हैं। कई कर्मचारियों को जांन तक गवांनी पड़ी। ऐसे में विभाग के सामने कर्मचारियों की समस्या भी हो रही है। वही दूध तथा उससे बने उत्पादो की समय पर बिक्री नहीं हो पा रही है।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER