इंदौर

Flyover in Madhya Pradesh : तीन शहरों में फ्लाईओवर निर्माण को मिली हरी झंडी

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:11 AM GMT
Flyover in Madhya Pradesh : तीन शहरों में फ्लाईओवर निर्माण को मिली हरी झंडी
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

भोपाल। मध्यप्रदेश में इंदौर, जबलपुर और देवास में बहुप्रतीक्षित फ्लायओवर को हरी झंडी मिल गई है और टेंडर भी जारी हो गए हैं, लेकिन राजधानी के फ्लायओवर का मामला डिजाइन में बदलाव के चलते फिलहाल अटक गया है। अब वल्लभ भवन की ओर से आने वाली सड़क को भी फ्लायओवर से जोड़ने का निर्णय हुआ है।

राजधानी में मेट्रो रेलवे लाइन के समानांतर बनने वाले फ्लायओवर को मानसरोवर कॉम्पलेक्स के पास तिराहे पर सड़क से जोड़ने के लिए 'वन वे साइड लेन" बनाने का प्रस्ताव स्थगित कर दिया गया है। यहां हरियाली को होने वाले नुकसान के कारण ऐसा किया गया है। इसके अलावा फ्लायओवर को अब मानसरोवर चौराहे के बजाय गणेश मंदिर से ही शुरू करने का निर्णय कर लिया गया है।

फ्लायओवर निर्माण के दौरान यह सड़क खराब हो जाएगी। यह बीआरटीएस की सड़क है, इसलिए पिछले कई दिनों से इसके निर्माण को लेकर ऊहापोह की स्थिति थी। लोक निर्माण विभाग इस बात पर सहमत हो गया है कि सड़क को नए सिरे से वही बनाकर देगा।

मेट्रो के समानांतर चलेगा फ्लायओवर

विभागीय सूत्रों का कहना है कि करीब दो किलोमीटर लंबे इस फ्लायओवर में अंतिम क्षणों तक कई संशोधनों का समावेश किया गया है। बोर्ड ऑफिस चौराहे से यह मार्ग सीधा गायत्री मंदिर की ओर निकल जाएगा। वल्लभ भवन से आने वाली सड़क एमपी नगर थाने के पास से होते हुए सीधे फ्लायओवर से जुड़ जाएगी। यहां से यह फ्लायओवर मेट्रो ट्रेन के समानांतर करीब दो किलोमीटर तक आगे जाएगा।

सर्वे की कार्रवाई पूरी, अगले सप्ताह टेंडर: मुख्य अभियंता

मध्यप्रदेश सेतु संभाग के मुख्य अभियंता एआर सिंह ने बताया कि इंदौर, जबलपुर और देवास के प्रस्तावित फ्लायओवर के लिए टेंडर की प्रक्रिया जारी कर दी गई है। भोपाल के इस महत्वाकांक्षी फ्लायओवर के लिए नए सिरे से सर्वे की कार्रवाई पूरी हो गई है।

संभवत: अगले सप्ताह तक टेंडर भी जारी कर दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि करीब दो किमी लंबे और लगभग डेढ़ सौ करोड़ रुपए की लागत वाले इस फ्लायओवर के नीचे की सड़क को लेकर भी यह तय हो गया है कि उसे भी नए सिरे से लोक निर्माण विभाग ही बनाएगा।

Next Story
Share it