इंदौर

Indore और Gwalior के नाम बदल कर देवी अहिल्याबाई और रानी लक्ष्मी बाई के नाम पर रखा जाए : कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा

Indore और Gwalior के नाम बदल कर देवी अहिल्याबाई और रानी लक्ष्मी बाई के नाम पर रखा जाए : कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा
x
Indore / इंदौर : मध्यप्रदेश कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा (Congress leader Sajjan Singh Verma) ने शनिवार को मांग की कि मध्यप्रदेश के ग्वालियर (Gwalior) और इंदौर (Indore) शहरों का नाम स्वतंत्रता सेनानी रानी लक्ष्मी बाई (Rani Laxmi Bai)और देवी अहिल्याबाई  (Devi Ahilyabai) के नाम पर रखा जाए।

Indore / इंदौर : मध्यप्रदेश कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा (Congress leader Sajjan Singh Verma) ने शनिवार को मांग की कि मध्यप्रदेश के ग्वालियर (Gwalior) और इंदौर (Indore) शहरों का नाम स्वतंत्रता सेनानी रानी लक्ष्मी बाई (Rani Laxmi Bai)और देवी अहिल्याबाई (Devi Ahilyabai) के नाम पर रखा जाए।

देशद्रोहियों के नाम भी पाठ्यक्रम में हो शामिल : सज्जन सिंह

ANI न्यूज़ एजेंसी के हवाले से कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने इंदौर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वालों का ही नहीं बल्कि देशद्रोहियों के नाम भी स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल होने चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने कहा ग्वालियर का नाम रानी लक्ष्मी बाई और इंदौर का नाम देवी अहिल्याबाई के नाम पर रखा जाना चाहिए।

सज्जन सिंह ने कहा रानी लक्ष्मीबाई और उनके खिलाफ साजिश करने वाले देशद्रोहियों के बारे में अधिक जानकारी स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल की जानी चाहिए।

नेता सज्जन सिंह ने कहा इंदौर शहर का नाम बदलकर देवी अहिल्याबाई नगर भी किया जाना चाहिए। कांग्रेस राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजेगी।

उन्होंने कहा झांसी की रानी के रूप में लोकप्रिय रानी लक्ष्मी बाई ने भारत के पहले स्वतंत्रता संग्राम (1857-58) के दौरान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 1858 में ग्वालियर के पास ब्रिटिश औपनिवेशिक शासकों से लड़ते हुए उनकी मृत्यु हो गई।

Next Story