इंदौर

37 वर्षीय नेहा की पति ने पूरी की इच्छा, 4 को मिला नया जीवन

Viresh Singh Baghel
20 Sep 2021 2:15 AM GMT
37 वर्षीय नेहा की पति ने पूरी की इच्छा, 4 को मिला नया जीवन
x
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) की नेहा के नेक विचार से चार लोगो को जीवन मिला है।

इंदौर (Indore) की नेहा आज भले ही दुनिया से चली गई हो लेकिन वह जाने के बाद भी चार लोगो को जीवन देकर गई है। उसकी इच्छा को उसके पति पंकज चौधरी ने पूरा किया और नेहा की मौत के बाद उसके अंगो का उसने दान किया है। नेहा के पति ने रविवार को चोइथराम हॉस्पिटल में बताया कि नेहा ने कुछ महीने पहले ही परिवार को बताया था कि मेरी मौत के बाद मेरा लिवर, फेफड़ा, किडनी, त्वचा आदि जरूरतमंद को डोनेट कर दिए जाए ताकि किसी और को नया जीवन मिल सके। उसकी इच्छा के अनुसार जरूरत मंदो के लिए उसके अंगो को दिया जा रहा हैं।

इंदौर में बनाया गया कॉरिडोर


नेक दिल नेहा की हुई मौत की जानकारी मिलने के बाद रविवार दोपहर प्रशासन ने शहर में 41वां ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। नेहा की बॉडी को समय पर अस्पताल पहुंचाया गया। नेहा की दोनों किडनियां, लिवर, आंख और त्वचा इंदौर में ही ट्रांसप्लांट किया जा रहा है। लिवर चोइथराम में ही ट्रांसप्लांट हो रहा है, जबकि एक किडनी सीएचएल हॉस्पिटल में तथा दूसरी बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती मरीज को ट्रांसप्लांट किया जा रहा है।

ब्रेन हेमरेज से हुई मौत

नेहा चौधरी इंदौर के पार्श्वनाथ नगर की रहने वाली थी। कुछ सालों से उनके हार्ट के वॉल्व में समस्या थी। 12 सितंबर को उनकी तबीयत बिगड़ी। पति पंकज चौधरी उन्हें चोइथराम हॉस्पिटल ले गए तो पता चला कि उसे ब्रेन हेमरेज हुआ है। परीक्षण के बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

मीडिया से अंगदान की नेहा को मिली थी जानकारी

पति पंकज ने बताया कि नेहा हाउस वाइफ थी, लेकिन उसे मीडिया के जरिए इंदौर में लगातार हो रहे अंगदान की पूरी जानकारी थी और यही देख उसके मन में भी प्रेरणा जगी। नेहा के लिवर चोइथराम हॉस्पिटल में ही भर्ती 56 साल के खातीवाला टैंक निवासी व्यक्ति को ट्रांसप्लांट किया जा रहा है। एक किडनी सीएचएल हॉस्पिटल में भर्ती श्याम नगर, माणिकबाग निवासी 35 साल की महिला को, दूसरी किडनी बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती स्कीम 114 निवासी महिला को ट्रांसप्लांट किया जा रहा है। आंख और त्वचा चोइथराम हॉस्पिटल में जरूरतमंद को दिया गया है।

Next Story
Share it